शिवसेना पर अन्याय की वजह से बना सीएम

– उद्धव ठाकरे का खुलासा 

– शिवसेना का 54 वां स्थापना दिवस 

मुंबई. पिछली सरकार में शिवसेना के साथ अन्याय हो रहा था. इस वजह से मुझे मुख्यमंत्री बनना पड़ा. यह खुलासा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शिवसेना के 54 वें स्थापना दिवस पर कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा कि शिवसेना पर हो रहे अन्याय को खत्म करने के लिए मुझे मुख्यमंत्री की कमान संभालनी पड़ी. 

ठाकरे ने कहा कि शिवसेना का जन्म अन्याय के खिलाफ लड़ने को हुआ था और वह अपने दिवंगत पिता तथा पार्टी संस्थापक बाल ठाकरे की विरासत को आगे बढ़ाएंगे. शिवसेना को अब किसी दूसरे बादल का डर नहीं है, क्योंकि शिवसेना खुद एक बादल है. 

एक दिन शिवसैनिक बनेगा देश का पीएम 

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कार्यकर्ताओं को विश्वास दिलाया कि यदि सभी लोगों ने पार्टी हित में मिलकर काम किया तो एक एक दिन शिवसैनिक भी देश का पीएम बनेगा. 

संकट के समय शिवसेना खड़ी होती है 

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब-जब देश पर संकट आता है, शिवसेना ही खड़ी होती है. ऐसे में इस समय जब भारत के ऊपर हिमालय की तरफ से संकट आया है तो उस संकट को मात देने के लिए सह्याद्रि (महाराष्ट्र) संकट की इस घड़ी में हिमालय के साथ खड़ा होगा.

कोरोना संकट की वजह से बड़ा जश्न नहीं 

हर साल 19 जून को शिवसेना का स्थापना दिवस धूमधाम मनाया जाता है, लेकिन इस बार कोरोना संकट की वजह से कोई बड़े कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया गया. 

शिवसेना शाखाओं में अस्थायी क्लीनिक

मुख्यमंत्री ठाकरे ने कहा कि राज्य में कोविड-19 संकट को देखते हुए शिवसेना शाखाओं को रोगियों के इलाज के लिए अस्थायी क्लीनिक बनाया जाएगा. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें कभी किसी संकट से डर नहीं लगता और वे सब कुछ छोड़कर जनता के लिए काम करते हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि चाहे कोई तूफान आए, कोई चक्रवात आए या अन्य कोई संकट आए. मुझे तब तक डर नहीं लगता जब तक आपके जैसे शिवसैनिक मेरे साथ हैं. इस अवसर पर ठाकरे के पुत्र, महाराष्ट्र के मंत्री और शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया तथा देश के प्रत्येक राज्य में पार्टी का आधार बढ़ाने पर जोर दिया.