लोकल में बढ़ी यात्रियों की संख्या, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन मुश्किल

मुंबई.अत्यावश्यक सेवा में लगे सरकारी कर्मचारियों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए सोमवार से शुरू की गई लोकल में भीड़ बढ़ रही है. राज्य सरकार की मांग पर अत्यावश्यक कर्मचारियों के लिए पश्चिम व मध्य रेलवे पर 84 दिन बाद लोकल शुरू हुई है.बताया गया कि मंगलवार की तुलना में बुधवार को कुछ स्टेशनों पर काफी भीड़ दिखी.पश्चिम रेलवे के विरार, वसई,नालासोपारा और मध्य रेलवे के ठाणे, कल्याण,कुर्ला,दादर स्टेशनों पर काफी भीड़ हो रही है. इससे लोकल में सोशल डिस्टेंसिंग नहीं हो पा रही है.सवेरे ऑफ़िस टाइम में और शाम को काफी भीड़ हो रही है.वैसे कुछ लोकल में सुबह 5 बजे से ही भीड़ देखी जा रही है.

मध्य रेलवे 200 फेरियां और वेस्टर्न रेलवे की तरफ से 162 फेरियों का संचालन किया जा रहा है.मंगलवार को लगभग 70 हजार कर्मचारियों ने लोकल से यात्रा की. बुधवार को इनकी संख्या में बढ़ोतरी हुई.रेलवे हर दिन सवा लाख अत्यावश्यक कर्मचारियों को लोकल से यात्रा की व्यवस्था की है. 

एक लोकल में 700 लोगों को यात्रा के लिए कहा गया 

सोशल डिस्टेंसिंग के लिए एक लोकल में 700 लोगों को यात्रा के लिए कहा गया है,परन्तु सुबह,शाम ज्यादा लोग यात्रा कर रहे हैं. सेंट्र्ल रेलवे पर कल्याण, डोंबिवली, बदलापुर, ठाणे, कुर्ला, दादर स्टेशन के अलावा अंधेरी, बोरीवली, विरार, बोईसर, नालासोपारा जैसे स्टेशनों पर सर्वाधिक टिकट व पास की बिक्री हो रही है.पश्चिम रेलवे पर मंगलवार को 13 लाख 67294 रुपए की आय हुई,जबकि बुधवार को आधे दिन में लगभग 4.50 लाख की आय हुई.   

आरटीओ कर्मियों को इजाजत नहीं

राज्य सरकार द्वारा सभी आरटीओ कर्मचारियों को ऑफिस आने के लिए कहा गया है, परंतु उन्हें ट्रेन से यात्रा की परमिशन न मिलने से भारी परेशानी हो रही है.आरटीओ कर्मचारियों का कहना है कि उनकी ड्यूटी भी अत्यावश्यक कर्मचारी के रूप में स्टेशनों पर भी लगाई गई है, परन्तु उन्हें लोकल में यात्रा की परमिशन नहीं है. इसी प्रकार अन्य अर्धसरकारी संस्थानों के कर्मचारियों को लोकल से यात्रा नहीं करने दी जा रही है. सरकार ने सिर्फ मंत्रालय, मनपा व स्वास्थ्य कर्मचारियों को हो लोकल से यात्रा की परमिशन दी है.

वांगनी में लोकल रोकने की मांग

मध्य रेलवे के वांगनी स्टेशन पर अंध-अपंग सरकारी कर्मचारियों के अलावा 300 कर्मचारियों के लिए लोकल ट्रेन रोकने की मांग यात्री महासंघ ने रेल प्रशासन से की है.इसके पहले कल्याण के आगे कसारा-कर्जत तक सभी स्टेशनों पर अप-डाउन दिशा में रुकती रही है,लेकिन इस समय कम फेरियां लगने से कुछ स्टेशनों पर लोकल नहीं रुक रही है.प्रवासी महासंघ के अध्यक्ष नंदकुमार देशमुख ने वांगनी स्टेशन पर सरकारी कर्मचारियों के लिए लोकल ट्रेन रोकने की मांग की है.