कोरोना संक्रमित महिलाओं की डिलीवरी में नायर हॉस्पिटल नं 1

  • अस्पताल ने 700 महिलाओं को मातृत्व का सुख दिलाया

सूरज पांडे

मुंबई. कोरोना से संक्रमित 700 गर्भवती महिलाओं की सफल डिलीवरी कराने के बाद बीएमसी का नायर अस्पताल देश का एक मात्र ऐसा अस्पताल बन गया है, जिसने संकट के घड़ी में अपनी जिम्मेदारी और बखूबी निभाते हुए देश कि के किसी भी अस्पताल से ज्यादा कोरोना संक्रमित महिलाओं की डिलीवरी कराई है.

 अस्पताल के डीन डॉ. रमेश भारमल ने बताया कि मनपा अधिकारियों के निर्णय और अस्पताल के डॉक्टरों की मदद से कोरोना से संक्रमित 700 महिलाओं ने शिशु को जन्म दिया. नायर के डेडिकेटेड कोविड अस्पताल की घोषणा के साथ ही पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी और उपचार की ज़िम्मेदारी हमारे डॉक्टर्स को सौंपी गई. हमारे अनुभवी डॉक्टर्स ने जोखिम के साथ इस पूरे महामारी में काम किया है. चाहे किसी भी परिस्थिति हो, हमारे डॉक्टर्स ने अच्छा परफॉर्म किया है.

सिर्फ 4 शिशु पॉजिटिव

डॉ. भारमल ने बताया कि अस्पताल में अबतक कोरोना ग्रसित 700 गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी हो चुकी है, जिसमें से केवल 4 नवजातों में वायरस ट्रांसमिशन हुआ है. माँ से भ्रूण में वायरस संक्रमण के चांसेस बहुत कम है, लेकिन सही देखभाल और डिलीवरी के समय काफी ध्यान देने की आवश्यकता होने की बात नायर अस्पताल के प्रस्तुति और स्त्रीरोग विभाग के डॉक्टर ने कही. हालांकि इसको लेकर भी अध्ययन चल रहा है, ऐसे में सटीक दावा नहीं किया जा सकता है.

अस्पताल ने जिम्मेदारी निभाई 

डॉ. रमेश भारमल ने बताया कि कोरोना काल के शुरुआती दिनों में उन महिलाओं की समस्या और भी बढ़ गई थी जब वे कोरोना से संक्रमित पाई गई थी. पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं को एडमिशन के लिए अस्पतालों में भटकना पड़ रहा था. इस मुश्किल की घड़ी में मनपा के नायर अस्पताल ने गर्भवती महिलाओं के उपचार और डिलीवरी की जिम्मेदारी उठाई. हमें बेहद खुशी है कि जो ज़िम्मेदारी हमें सौंपी गई है उसे निभाने में हम अब तक सफल रहे हैं. अब हमारे प्रसूति और स्त्री रोग विभाग के डॉक्टर्स पॉजिटिव गर्भवती महिलाओं को लेकर अध्ययन भी कर रहे हैं.