घर जाकर फरियादियों को वापस दिए 2 करोड़ से ज्यादा के सामान

मुंबई. रेलवे में यात्रा के दौरान चोरी हुए माल को आरोपियों से बरामद कर उसे उनके असली मालिकों को घर तक पहुंचाने का काम जीआरपी कर रही है. बताया गया है कि जून माह से लेकर अब तक 2 करोड़ 13 लाख से ज्यादा का जब्त सामान फरियादी को उनके घर ले जाकर सौंपा गया है. लॉकडाउन की विपरित परिस्थितियों में काफी पहले अपना चोरी गया सामान, वापस पाकर फरियादी भी राहत महसूस कर रहे हैं.

मुंबई जीआरपी की नई पहल

इस वस्तुओं में मोबाइल,लैपटॉप,सोने की चेन,नगद आदि वस्तुएं शामिल हैं. जीआरपी आयुक्त रविंद्र सेनगांवकर के मार्गदर्शन में यह मुहिम शुरू हुई. बताया गया कि जून तक सभी रेल पुलिस स्टेशनों में 14,566 जब्त सामान लंबित थे. पुलिस आयुक्त सेनगांवकर के निर्देश पर फरियादी को उनका सामान घर जाकर लौटने का निर्णय लिया गया.अब तक 2 करोड़ 13 लाख 53,310 रुपए मूल्य के सामान कानूनी प्रक्रिया कर फरियादी को घर तक पहुंचा दिए गए हैं. मुंबई रेल पुलिस के पास अगस्त तक 4018 मुद्दे माल बाकी बचा है, उसे भी अक्टूबर तक उनके मालिकों तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है. वर्षों-महीनों पहले अपना चोरी-लूट में गया सोना-चांदी, नगद और अन्य सामान पाकर लोग जीआरपी की इस अभिनव भूमिका की प्रशंसा कर रहे हैं.