electric_bus

  • परिवहन समिति ने प्रस्ताव को दी मंजूरी

नागपुर. कोरोना के संकटकाल में लाकडाऊन के चलते भले ही मनपा की बसों के चक्के थमे हो, लेकिन इसी बीच अब बेडे में 40 इलेक्ट्रीक बसों को शामिल करने का निर्णय लिया गया. मंगलवार को मनपा मुख्यालय में हुई परिवहन समिति की बैठक में प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान किए जाने की जानकारी सभापति बाल्या बोरकर ने दी. बैठक में नितीन साठवने, नरेन्द्र वालदे, विशाखा बांते, मनीषा धावडे, वैशाली रोहनकर, रूपाली ठाकुर, परिवहन व्यवस्थापक शकील नियाजी, रंजना लाडे, रवीन्द्र पागे, अरूण पिपरुडे, विनय भारद्वाज, योगेश लुंगे आदि उपस्थित थे.

आयुक्त ने बचाया परिवहन खर्च
बताया जाता है कि परिवहन सेवा में 40 बसों को शामिल करने के लिए टेंडर मंगाया गया था. जिसमें मेसर्स ईवीईवाय ट्रांसपोर्ट कम्पनी की ओर से प्रति किलोमीटर 72.99 रु. का दर दिया था. लेकिन मनपा आयुक्त मुंढे की ओर से कम्पनी के प्रमुखों से चर्चा की गई. जिसके बाद 66.33 रु. प्रति किलोमीटर की दर से इलेक्ट्रीक बसों का संचालन करने करने का निर्णय लिया गया.

बसों के लिए केंद्र सरकार की ओर से प्रति बस 45 लाख रु. का अनुदान दिया जाना है. इन बसों में नियुक्त कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन के अनुसार वेतन देने के निर्देश सभापति ने दिए. साथ ही बैठक में पारित प्रस्ताव के अनुसार शीघ्र समझौता करने के निर्देश भी प्रशासन को दिए.