Representional Pic
Representional Pic

  • शिवसेना ने किया भंडाफोड़, CP व मनपा आयुक्त से शिकायत

नागपुर. कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच शहर का हर नागरिक जान पर खेलकर रोजी रोटी कमा रहा है. वहीं, हास्पिटल के साथ ही प्राइवेट कोविड टेस्टिंग लैब खुलेआम नागरिकों की जेब पर डाका डाल रहे हैं. शिवसेना के विप विधायक दुष्यंत चतुर्वेदी और शहर समन्वय शैलेन्द्र तिवारी के नेतृत्व में सीताबर्डी स्थित सीएक्स क्लिनीकेयर स्पेशालिटी लैबॉरेटरी प्राइवेट लिमिटेड लैब का भंडाफोड़ किया जहां सरकार द्वारा तय 1,600 रुपये की फीस के बजाय 2,500 रुपये वसूले जा रहे थे जबकि बिल 2,000 रुपये का थमाया जा रहा था. उक्त लैब डा. राजकुमार राठी द्वारा संचालित है और इसे महानगर पालिका की ओर से कोविड टेस्टिंग की अनुमति प्रदान की गई है. चतुर्वेदी ने मनपा आयुक्त बी. राधाकृष्णन और शहर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार से भी शिकायत की.

लिखित रूप से कबूली धांधली
तिवारी ने बताया कि उत्तर नागपुर निवासी आशीष हाडगे और अभिषेक धुर्वे ने उक्त लैब द्वारा की जा रही लूट के बारे में हमसे शिकायत की. सत्यता जांचने पहूंचे शिवसैनिकों को शिकायतें सही मिली. पता चला कि उक्त लैब फीस में धांधली के साथ ही मनपा से कोविड टेस्टिंग के आंकड़े भी छुपा रही है. शिवसैनिकों के सामने पोल खुलने से संचालक डा. राठी और सुपरीटेंडेंट डा. हर्षल ने लिखित रूप से अपनी गलती मानी और वहां मौजूद सभी लोगों से वसूली गई गई अतिरिक्त फीस लौटा दी गई. लेकिन अपराध तो अपराध है इसलिए कार्रवाई होनी ही चाहिए. इससे पहले इन्हीं आरोपों के बाद ध्रुव लैब पर 5 लाख रुपये का भारी भरकम जुर्माने के साथ ही लाइसेंस भी सस्पेंड किया जा चुका है तो फिर इस लैब पर रहम गलत संदेश देगा.

CP ने लगाई फटकार
फिर विधायक चतुर्वेदी और तिवारी शहर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार से मिले और संचालक डा. राठी के खिलाफ धारा 420 के तहत नागरिकों से धोखाधड़ी का मामला दर्ज करने की मांग की. सारी बात सुनने के बाद सीपी अमितेश कुमार ने तुरंत सदर पुलिस स्टेशन के पीआई को निर्देश दिये कि लैब संचालक राजकुमार राठी और उनके बेटे को बुलाया जाये. इस बारे में शहर पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने कहा कि डा. राठी को बुलाया गया और टेस्टिंग फीस को लेकर की जा रही गड़बड़ियों के लिए सख्त चेतावनी दी गई. डा. राठी ने अपनी गलतियां स्वीकार करते हुए सुधार का आश्वासन दिया.

लगे फीस का बोर्ड, बताये खाली बेड की संख्या
शिवसेना का यह शिष्टमंडल मनपा आयुक्त बी. राधाकृष्णन से भी मिला और उन्हें भी लैब की कारिस्तानी बताई. चतुर्वेदी ने कहा कि प्राइवेट लैब कोरोना के संकटकाल में भी ये नागरिकों को लूटने से नहीं चूके रहे, इनकी हर दिन मानिटरिंग जरूरी है. बेहतर होगा कि प्रशासन हर लैब को टेस्टिंग फीस का बोर्ड लगाना अनिवार्य करें. साथ ही प्राइवेट कोविड हास्पिटलों के बाहर ही बेड की उपलब्धता की जानकारी चस्पा करने के निर्देश दें. इस दौरान मंगेश काशीकर, मुन्ना तिवारी, अक्षय मेश्राम, अब्बास अली समेत बड़ी संख्या में शिवसैनिकों की उपस्थिति रही.