Without Mask Fine
File Photo

नागपुर. कोरोना की दूसरी लहर आने की विशेषज्ञों द्वारा जताई गई संभावना के चलते जहां प्रशासन सतर्क हो गया है, वहीं लोगों में भी इसे लेकर चिंता होने का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि अब बिना मास्क बाहर घूमनेवालों के आंकड़े में कमी दिखाई दे रही है. शुक्रवार को मनपा के उपद्रव शोध दल ने केवल 117 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की. लंबे समय बाद ही सही, लेकिन बिना मास्क घूमनेवालों में कमी आने से मनपा द्वारा राहत की सांस ली जा रही है.

मनपा के डॉक्टरों का मानना है कि कोरोना की दूसरी लहर के असर का फिलहाल इसका अंदाजा लगाना संभव नहीं है. किंतु विशेषज्ञों द्वारा दिए जा रहे संकेतों के अनुसार प्रशासन को तैयार रहना है. यही कारण है कि बिना मास्क घूमनेवालों पर अभी भी कड़ी नजर रखी जा रही है.

24,361 पर अब तक कार्रवाई

बताया जाता है कि शुक्रवार को हुई कार्रवाई में उपद्रव शोध दल ने कुल 58,500 रु. का जुर्माना वसूल किया. शहर के सभी 10 जोन में अलग-अलग दस्ते ने कार्रवाई की. सूत्रों के अनुसार भले ही कोरोना पॉजिटिव के आंकड़ों में कमी देखी जा रही है, किंतु जनता सतर्क हो गई है. यही कारण है कि अब लोग मास्क का उपयोग करने लगे हैं. चूंकि मनपा की ओर से जुर्माना बढ़ाए जाने के बाद भी लंबे समय तक बिना मास्क निकलनेवालों की संख्या में कमी नहीं आई थी, जिससे कड़ा रुख जारी रखना होगा. मनपा की ओर से शुरू किए गए इस अभियान में अब तक कुल 24,361 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई, जिसमें 1.05 करोड़ रु. का जुर्माना वसूला गया है. 

नेहरूनगर जोन में सबसे कम मामले

बताया जाता है कि कोरोना पर नियंत्रण के लिए लोगों पर मास्क की अनिवार्यता लागू की गई, जिसका पालन सुनिश्चित करने के लिए मनपा ने बिना मास्क पाए जाने पर शुरुआती दौर पर 200 रु. का जुर्माना ठोकने का निर्णय लिया था. 200 रु. जुर्माना होने के कारण लोगों द्वारा इसे काफी हलके में लिया गया, जिससे मनपा को जुर्माना बढ़ाना पड़ा.

शुक्रवार को हुई कार्रवाई में लक्ष्मीनगर जोन में 21, धरमपेठ जोन में 20, हनुमाननगर जोन में 13, धंतोली जोन में 8 और नेहरूनगर जोन में सबसे कम 4 लोगों पर कार्रवाई की गई. इसके अलावा गांधीबाग जोन में 9, सतरंजीपुरा जोन में 6, लकड़गंज जोन में 7, आसीनगर जोन में 12, मंगलवारी जोन में 15 तथा मनपा मुख्यालय में भी 2 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई. विशेषत: 500 रु. जुर्माना किए जाने के बाद एनडीएस की ओर से कुल 18,891 पर कार्रवाई कर 94.45 लाख रु. की वसूली की गई है.