ढाई करोड़ की लागत से पुल का निर्माण शुरू

  • सांसद हेमंत गोडसे ने कार्य का मुआयना कर जताई खुशी
  • 4 को सौंपा जाएगा लिफ्ट की मांग को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों को ज्ञापन

देवलाली कैम्प. ब्रिटिश काल में निर्माण किया गया पूर्व रेल के पुल को 100 से अधिक साल हो चुके हैं. इस पुराने पुल की मरम्मत की क्षमता अब खत्म हो गई है. ढ़ाई करोड़ की लागत से एक नए पुल का निर्माण हो रहा है. हाल ही में सांसद हेमंत गोडसे ने रेल के संबंधित अधिकारियों के साथ मिलकर पुल के काम का मुआयना किया. इस वक्त सांसद गोडसे ने खुशी जताते हुए कहा, पुल निर्माण का काम बड़ी तेजी से हो रहा है. बहुत जल्द पुल का शुभारंभ किया जाएगा.

आए दिन देवलाली रेल स्थानक पर यात्रियों की अच्छी खासी भीड़ हो रही है. इसके चलते नए पुल का निर्माण वक्त की जरूरत भी है. इस पुल की कुल लंबाई 50 मीटर है और चौड़ाई 2.67 मीटर है. प्रवासियों की सुविधा के लिए तीन जगह पर सीढ़ी का प्रबंध किया गया है. रेल स्थानक से सटीक आम नागरिक भी इस पुल का उपयोग कर सकते हैं. रेल प्रवासी एवं रेल संगठनों ने इस पुल के निर्माण पर संतुष्टि जताई है.

देवलाली रेल स्थानक के रेल प्रबंधक मनोज सिन्हा की निगरानी में सभी कार्य किए जा रहे हैं. परंतु देवलाली के वरिष्ठ नागरिक नंदू कुमार बुंदेले ने आशंका जताई है कि इस पुल की ऊंचाई बहुत होने की वजह से वरिष्ठ नागरिकों को सीढ़ियां चढ़ने में असुविधा होगी. उन्होंने आशा जताई है कि पुल के निर्माण के साथ-साथ लिफ्ट का निर्माण भी किया जाना आवश्यक है. इस सिलसिले में 4 दिसंबर को भुसावल के वरिष्ठ प्रबंधक को लिफ्ट निर्माण हेतू ज्ञापन दिया जाएगा.