Vaccination at 16 centers in Nashik district
Representational Pic

नाशिक. जिले में सरकारी और निजी पंजीकृत  स्वास्थ्य कर्मचारियों (Health workers) के लिए 43440 डोजेस प्राप्त हुए हैं। जिले के स्वास्थ्य कर्मचारियों (Health workers) के टीकाकरण (Vaccination) के लिए 16 केंद्र निश्चित किए गए हैं।

कोविड 19 टीकाकरण (Covid 19 Vaccination) के लिए जिला अस्पताल, नाशिक सिविल अस्पताल, मालेगांव उपजिला अस्पताल, कलवण उपजिला अस्पताल, निफाड़ उपजिला अस्पताल, चांदवड़ उपजिला अस्पताल, येवला ग्रामीण अस्पताल, दिंडोरी में नाशिक तहसील के सैय्यद पिंपरी में प्राथिमिक स्वास्थ्य केंद्र, इंदिरा गांधी अस्पताल, नाशिक शहर स्वास्थ्य केंद्र, सातपुर, नाशिक शहरी स्वास्थ्य  केंद्र, नया बिटको, नाशिक शहर स्वास्थ्य केंद्र जेडीसी बिटको, कैम्प वार्ड मालेगांव। यह सभी शहरी और ग्रामीण इलाकों के 16 स्वास्थ्य केंद्र निश्चित किए गए हैं।

ऐसी जानकारी जिला अधिकारी सूरज मांढरे ने दी। कोविड महामारी के प्रतिबंध के लिए आखरी चरण के टीकाकरण 16 जनवरी से जिले के 16 केंद्रों पर किए जाऐंगे एैसी सूचना भी जिला अधिकारी मांढरे ने दी। टीकाकरण होने के बाद लोगों को अधिक सक्षम सुरक्षा कवच मिलेगा। अगले चरणों में हर नागरिक तक यह टीका पहुंचाया जाएगा। इसके लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली हैं।

हर केंद्र पर 5 सेवक

चुनी गई संस्थाओं के लिए एक नोडल अधिकारी और हर संस्थान में 5 अधिकारी और कर्मचारियों की टीम बनाई गई है। इस टीम को टीकाकरण के समय मास्क लगाना और ग्लोज पहनना अनिवार्य है। कोविड 19 टीकाकरण के लिए हर जगह 3 रुम की व्यवस्था की गई है। पहले वेटिंग रुम में लाभ लेने वाले 6 फूट का सामाजिक अंतर रखकर बैठने की सुविधा की गई है।

इस प्रकार होगा टीकाकरण 

टीकाकरण के लिए आने वाले हर कर्मचारी के तापमान की जांच करके सैनिटाइज किया जाएगा। दूसरे वैक्सीन के रूम में टीका लेने वाले की पहचान पत्र के अनुसार कोविन एप एप्लिकेशन में पंजीकरण करके उसे टीकाकरण की पूरी जानकारी देने के बाद उसे टीका लगाया जाएगा। टीका लगने के बाद तीसरे निरीक्षण रूम में लाभार्थी को 30 मिनट परिक्षण के लिए ठहराया जाएगा। इन तीनों कमरों में कोविड 19 महामारी के प्रतिबंध के लिए किए गए उपायों की जानकारी दी जाएगी।

जिले में टीकाकरण के पहले चरण में कुल 18135 सरकारी और 12480 निजी संस्थाओं में स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीकाकरण के लिए प्राथमिकता दी जाएगी। जिले में अब तक 1029 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाने का प्रशिक्षण दिया गया है। साथ ही जिले में टीका सुरक्षित रूप से रखने के लिए 210 आईएलआर उपलब्ध कराए गए हैं।