सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाएगी भाजपा, गहलोत से मिलने पहुंचे पायलट

जयपुर: राजस्थान कांग्रेस में पिछले एक महीने से शुरू संकट सचिन पायलट के वापसी से समाप्त हो गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समेत सभी कांग्रेस विधायक कल होने वाले विधानसभा सत्र के जयपुर वापस पहुँच चुके हैं. इसी बीच मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा ने गहलोत सरकार के खिलाफ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान कर दिया है. वहीं गतिरोध समाप्त होने के बाद पहली बार सचिन पायलट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मिलने पहुंचे हैं. 

भाजपा नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटरिया ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “हम अपने सहयोगियों के साथ कल विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव ला रहे हैं.”उन्होंने कहा, “कांग्रेस अपने घर में टांका लगाकर कपड़े को जोड़ना चाह रही है, लेकिन कपड़ा फट चुका है. ये सरकार जल्द ही गिरने वाली है.” 

अपने विरोधाभास से गिरेगी सरकार 
वहीँ प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश पुनिया ने कहा, “सरकार में बहुत सारे मतभेद हैं. जिस तरह से उन्होंने संघर्ष किया है, संभावना है कि वे विधानसभा में विश्वास मत ला सकते हैं लेकिन हम अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए भी तैयार हैं.” उन्होंने कहा, “सरकार अपने विरोधाभास से गिरेगी, बीजेपी पर यह झूठा आरोप लगा रहे हैं. लेकिन इनके घर के झगड़े से बीजेपी का कोई लेना देना नहीं है.”

गहलोत से मिलने पहुंचे सचिन पायलट 
सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच एक महीने चलाई लड़ाई समाप्त होने के बाद आज पहली बाद पायलट मुख्यमंत्री से मिलने उनके सरकारी आवास पर पहुंचे.  मिली जानकरी के अनुसार कल से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र के लिए मुख्यमंत्री गहलोत से फोन कर पायलट को मिलने बुलाया है. 

भाजपा एक परिवार: वसुंधरा राजे 
विधानसभा सत्र के पहले आज भाजपा विधायक दल की बैठक बुलाई थी. जिसमे प्रदेश भाजपा नेताओं के साथ पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे  भी मौजूद थी. बैठक के दौरान विधायकों को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ” कुछ लोग भाजपा में फूट की खबरें फैला रहे हैं. उन्हें बता दूं कि भाजपा एक परिवार है, जिसको आगे बढ़ाने के लिए हम सभी एकजुट हैं, संकल्पित हैं.” उन्होंने आगे कहा, “जमाता जी ने मुझे सिखाया था कि जिस पार्टी की मैं कार्यकर्ता हूं उसके लिए राष्ट्र सर्वोपरि है और मैं उन्हीं के कदमों पर आगे बढ़ रही हूं.”