GAHLOT

  • राजस्थान विधानसभा में 2021- 22 का बजट पेश, कई नयी घोषणाएं.

जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gahlot) ने बुधवार को वित्त वर्ष 2021- 22 का बजट (Budget) राज्य विधानसभा में पेश किया। इसमें उन्होंने कई नयी घोषणाएं की जिनमें राज्य के 25 जिला मुख्यालयों पर चरणबद्ध तरीके से नर्सिंग महाविद्यालय स्थापित करना शामिल है। गहलोत ने राज्य के पहले पेपरलेस बजट भाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि 2021- 22 में राज्य सरकार की सोच है कि सभी तबकों को साथ लेकर प्रदेशवासियों के जीवन को खुशहाल बनाया जाए। 

खुलेंगे कई मिनी फूडपार्क, किसानों के लिए बड़े एलान:

आज सबसे अहम् राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने यह ऐलान किया कि उनकी सरकार अगले साल से अलग कृषि बजट भी पेश करेगी। इसके साथ ही अब राज्य में अलग-अलग स्थानों पर कई मिनी फूडपार्क बनाए जाएंगे, इसके अलावा किसानों को भी अब बेहतरीन और आधुनिक सुविधा दी जाएगी। इसके साथ ही आगामी तीन वर्षों में 1000 किसान सेवा केंद्रों का निर्माण किया जाएगा। अब राज्य में खेती के लिए बिजली देने के लिए अलग से बिजली वितरण कंपनी भी बनाई जाएगी। इसके साथ ही अशोक गहलोत ने कहा कि अब बिजले मीटर से जो मासिक बिल भेजे जाते हैं, वो किसानों को दो महीने में एक बार भेजे जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने 50 हजार किसानों को सोलर पंप भी देने का वादा किया। वहीं अगले साल से किसानों को सब्सिडी के लिए 16 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान भी रखने का एलान किया है। 

राज्य के लोगों को मिलेगा यूनिवर्सिल हेल्थ कवरेज: 

इसके बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में स्वास्थ्य क्षेत्र को नए तरीके से बेहतरीन और उसे विश्वस्तरीय बनाने का भी ऐलान किया है। इसके तहत अगले साल से राजस्थान सरकार यूनिवर्सिल हेल्थ कवरेज लागू करेगी , राज्य के प्रत्येक परिवार को 5 लाख रुपये के स्वास्थ्य बीमा की फ्री सुविधा भी मिलेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना ने अर्थव्यवस्था को झकझोर कर रख दिया इसलिये वर्ष के दौरान अधिक वित्तीय संसाधन जुटाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ‘राइट टु हेल्थ’ विधेयक लाएगी तथा अगले साल 3,500 करोड़ रुपये की लागत से सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुविधा (यूनिवर्सल हेल्थ केयर) लागू करेंगे जिसमें हर परिवार को पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध हो सकेगा।

युवाओं के लिए कई अहम् कदम:

इसके साथ ही अशोक गहलोत ने यह ऐलान भी किया कि युवाओं को राज्य सरकार की तरफ से  विभिन्न मंत्रालयों में इंटर्नशिप कराई जाएगी, इसमें करीब 2 लाख युवाओं को आर्थिक और शिक्षण लाभ मिलेगा। वहीं प्रतियोगी परीक्षा में भाग लेने वाले छात्रों को बस में मुफ्त सफर भी करवाया जाएगा। इतना ही नहीं राज्य के हर ब्लॉक में एक स्टेडियम निर्मित होगा। वहीं जयपुर में मौजूद क्रिकेट स्टेडियम का जीर्णोद्धार किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, “राज्य में बेरोजगारी भत्ता 1000 रुपये बढ़ाया जाएगा। मुख्यमंत्री युवा संबल योजना से करीब 2 लाख युवा लाभान्वित होंगे। राज्य सरकार की योजनाओं को आमजन तक पहुंचाने के लिए राजीव गांधी युवा कोर का गठन होगा। 2500 राजीव गांधी युवा मित्रों का चयन होगा।”

दिव्यांग छात्रों और युवाओं को मिलेंगी मुफ्त 2000 स्कूटियां:

अब राजस्थान में पशुपालकों के लिए अलग से एम्बुलेंस सुविधा शुरू होगी, ताकि उनके पशुओं को तुरंत इलाज मिल सके। साथ ही राज्य में एक अलग से बेहतरीन पशु चिकित्सालय खोला जाएगा। कॉलेज और ऑफिस जाने वाले दिव्यांग छात्रों और युवाओं को उनकी सरकार की तरफ से 2000 स्कूटियां दी जाएंगी। सभी महिलाओं को मुफ्त सैनिटिरी नैपकिन दिया जाएगा, ख़ास कर ग्रामीण क्षेत्रो में मुख्य रूप से महिलाओं को निशुल्क सैनिटिरी नैपकिन अब दिए जाएंगे।

शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में में कई बड़े ऐलान:

आज अशोक गहलोत ने ऐलान किया कि अब राज्य के 25 जिला मुख्यालयों में नर्सिंग महाविद्यालयों को खोला जाएगा। इसके अलावा कई जिलों में जिला हॉस्पिटल बनाने और कुछ के जरुरी अपग्रेडेशन का ऐलान भी उनके द्वारा किया गया। इसके साथ ही उन्होंने ऐलान किया कि राज्य में महात्मा गांधी के नाम पर बनाए गए शांति कोष को अब और बढ़ाया जाएगा। वहीं अब राज्य में मूक-बधिरों के लिए दो नए विश्वविद्यालय भी बनाने का गहलोत ने एलान किया। वहीं जयपुर में 50 करोड़ की लागत से राष्ट्रीय कार्डियोलॉजी सेंटर की भी अब स्थापना होगी, इसके साथ ही राजस्थान राज्य आयुष अनुसंधान केंद्र की भी अलग से स्थापना होगी। मुख्यमंत्री गहलोत ने यह भी ऐलान किया कि जयपुर में एक टेक्नोलॉजी सेंटर भी बनाया जाएगा, जहां पर आधुनिक तकनीक की शिक्षा दी जाएगी। इसके अलावा NASA की जरुरी मदद से अब राज्य के बच्चों को विज्ञान के क्षेत्र में अनेकों जरुरी पाठ्यक्रम कराए जाएंगे।

अब यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में होगी फ्री वाई-फाई:

 आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह ऐलान भी किया कि आयुष सेंटर्स को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में स्थापित होगा। इसके साथ ही उदयपुर में योग के लिए अलग से कॉलेज खोले जाएंगे। सबसे जरुरी एलान यह भी है कि अब से राज्य में घायल लोगों को अस्पताल पहुंचाने वाले को पांच हजार रुपये दिए जाएंगे। इसके साथ ही अशोक गहलोत ने ऐलान किया कि राज्य में सभी राजकीय विद्यालयों में स्मार्ट टीवी और सेटटॉप बॉक्स भी लगाए जाएंगे। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि राज्य की सभी यूनिवर्सिटी की लाइब्रेरी में अब फ्री वाई-फाई होगा। 

गौरतलब है कि अशोक गहलोत सरकार का इस कार्यकाल का ये तीसरा बजट है, जो पेपरलेस है। सभी विधायकों और अन्य सदस्यों को इस बार बजट भाषण और बजट से जुड़ी सभी सॉफ्ट कॉपी दी गई है। गौरतलब है कि हाल ही के दिनों में उत्तर प्रदेश, बिहार, तमिलनाडु जैसे राज्यों ने अपना बजट पेश किया है। बता दें कि मुख्यमंत्री गहलोत के पास वित्त विभाग भी है और उनकी राज्य सरकार का यह तीसरा बजट है। 

उन्होंने कहा कि कोरोना ने अर्थव्यवस्था को झकझोर कर रख दिया इसलिये वर्ष के दौरान अधिक वित्तीय संसाधन जुटाने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ‘राइट टु हेल्थ’ विधेयक लाएगी तथा अगले साल 3,500 करोड़ रुपये की लागत से सार्वभौमिक स्वास्थ्य सुविधा (यूनिवर्सल हेल्थ केयर) लागू करेंगे जिसमें हर परिवार को पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध हो सकेगा। गहलोत के पास वित्त विभाग भी है। राज्य सरकार का यह तीसरा बजट है।