Man in broad daylight with knife, accused forcibly picked up friend

बरुईपुर (पश्चिम बंगाल). पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24परगना जिले में तृणमूल कांग्रेस के एक कार्यकर्ता की कथित तौर पर हत्या कर दी गई जबकि एसयूसीआई के एक सदस्य का शव इलाके में एक पेड़ से लटका पाया गया। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी दी। सूत्रों ने बताया कि माईपीठ-बैकंठपुर पंचायत में सत्ता संघर्ष को लेकर एसयूसीआई और सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच जिले के कुलताली क्षेत्र में शुक्रवार को झड़पें हुई थीं।

तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि एसयूसीआई के सदस्यों ने उसके कार्यकर्ता अश्विनी मन्ना के साथ मारपीट की और उसकी हत्या कर दी। वहीं एसयूसीआई का आरोप है कि उसके जिला समिति के सदस्य सुधाशू जाना को तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उसके घर से अगवा कर लिया था। उसका आरोप है कि उसके बाद उससे मारपीट की गई जिससे उसकी मौत हो गई और शव को पेड़ से लटका दिया गया। उसने आरोप लगाया कि सुधाशू के घर में तोड़फोड़ भी की गई। पुलिस ने कहा कि मन्ना की हत्या की गई लेकिन सुधाशू के आत्महत्या करने का संदेह है।

एक अधिकारी ने बताया,‘‘ शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। सुधाशू का शव पेड़ से लटका पाया गया, इससे हमें संदेह है कि उसने आत्महत्या की है। मौत के सही कारणों का पता पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही चल सकेगा।” अधिकारियों ने बताया कि इन झड़पों से संबंध में 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और तीन को हिरासत में लिया गया है।

एसयूसीआई के पूर्व विधायक जॉयकृष्ण हलदर ने कहा कि उनकी पार्टी के कई सदस्यों के घर लूटे गए, तोड़फोड़ की गई और उन्हें आग के हवाले किया गया। पुलिस ने कहा कि स्थिति से निपटने के लिए क्षेत्र में बलों को तैनात किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि तृणमूल और एसयूसीआई के कई सदस्य घायल हैं और विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। (एजेंसी)