1/9
सायरा बानो का जन्म 23 अगस्त, 1944 को मसूरी में हुआ। उनकी मां नसीम बानो भी अपने समय की मशहूर अभिनेत्री रही हैं। उनके पिता मियां एहसान-उल-हक फिल्म निर्माता थे, जिन्होंने मुंबई में 'फूल' और पाकिस्तान में 'वादा' फिल्म का निर्माण किया।
सायरा बानो का जन्म 23 अगस्त, 1944 को मसूरी में हुआ। उनकी मां नसीम बानो भी अपने समय की मशहूर अभिनेत्री रही हैं। उनके पिता मियां एहसान-उल-हक फिल्म निर्माता थे, जिन्होंने मुंबई में 'फूल' और पाकिस्तान में 'वादा' फिल्म का निर्माण किया।
2/9
सायरा का बचपन लंदन में बीता, वही पर उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की। लंदन से पढ़ाई पूरी करने के बाद सायरा भारत वापस लौटीं। उन्हें स्कूल के दिनों से ही एक्टिंग का शौक था।  
सायरा का बचपन लंदन में बीता, वही पर उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी की। लंदन से पढ़ाई पूरी करने के बाद सायरा भारत वापस लौटीं। उन्हें स्कूल के दिनों से ही एक्टिंग का शौक था।  
3/9
सायरा ने 17 साल की उम्र में ही बॉलीवुड में कदम रख दिया। उन्होंने साल 1961 में  रिलीज हुई फिल्म जंगली से अपने करियर की शुरुआत की। इस फिल्म में सायरा के साथ शम्मी कपूर नज़र आए थे। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए नामाँकित किया गया।इसके बाद उन्होंने एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्में की।
सायरा ने 17 साल की उम्र में ही बॉलीवुड में कदम रख दिया। उन्होंने साल 1961 में  रिलीज हुई फिल्म जंगली से अपने करियर की शुरुआत की। इस फिल्म में सायरा के साथ शम्मी कपूर नज़र आए थे। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए नामाँकित किया गया।इसके बाद उन्होंने एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्में की।
4/9
60 और 70 के दशक में सायरा बानो एक कामयाब एक्ट्रेस के रूप में बॉलीवुड में जगह बना चुकी थीं। साल 1968 की फिल्म 'पड़ोसन' से वह काफी पॉपुलर हो गई। इस फिल्म के बाद उनके करियर को रफ़्तार मिल गई। इसके बाद सायरा ने दिलीप कुमार के साथ 'गोपी', 'सगीना', 'बैराग' जैसी फिल्मों में काम किया।
60 और 70 के दशक में सायरा बानो एक कामयाब एक्ट्रेस के रूप में बॉलीवुड में जगह बना चुकी थीं। साल 1968 की फिल्म 'पड़ोसन' से वह काफी पॉपुलर हो गई। इस फिल्म के बाद उनके करियर को रफ़्तार मिल गई। इसके बाद सायरा ने दिलीप कुमार के साथ 'गोपी', 'सगीना', 'बैराग' जैसी फिल्मों में काम किया।
5/9
सायरा बानो और दिलीप कुमार की लव स्टोरी भी बेहद इंट्रेस्टिंग है। दरअसल, 1952 में आई फिल्म 'आन' में दिलीप साहब को देखकर सायरा उनसे मोहब्बत करने लगी थी। इस वक्त सायरा की उम्र मात्र 8 साल थी।
सायरा बानो और दिलीप कुमार की लव स्टोरी भी बेहद इंट्रेस्टिंग है। दरअसल, 1952 में आई फिल्म 'आन' में दिलीप साहब को देखकर सायरा उनसे मोहब्बत करने लगी थी। इस वक्त सायरा की उम्र मात्र 8 साल थी।
6/9
सायरा बानो और दिलीप कुमार की उम्र में 22 साल का अंतर है। ऐसा मना जाता है कि दिलीप कुमार ने सायरा बानो से शादी ना करने के लिए अपने सफ़ेद बालों का हवाला दिया। 
सायरा बानो और दिलीप कुमार की उम्र में 22 साल का अंतर है। ऐसा मना जाता है कि दिलीप कुमार ने सायरा बानो से शादी ना करने के लिए अपने सफ़ेद बालों का हवाला दिया। 
7/9
दिलीप कुमार ने सायरा बानो से कहा था, ''मेरे सफेद होते बालों को तो देखो!'' इसके बाद भी सायरा बानो पीछे नहीं हटी। हालांकि 11 अक्टूबर 1966 को सायरा बानो और दिलीप कुमार ने शादी कर ली। उस समय दिलीप कुमार 44 साल के थे और सायरा 22 साल की।
दिलीप कुमार ने सायरा बानो से कहा था, ''मेरे सफेद होते बालों को तो देखो!'' इसके बाद भी सायरा बानो पीछे नहीं हटी। हालांकि 11 अक्टूबर 1966 को सायरा बानो और दिलीप कुमार ने शादी कर ली। उस समय दिलीप कुमार 44 साल के थे और सायरा 22 साल की।
8/9
शादी के बाद उन्होंने अपना सारा जीवन दिलीप कुमार को ही समर्पित कर दिया। पिछले कई वर्षों से वह दिलीप कुमार के हर दुःख सुख में साए की तरह उनके साथ रहती हैं। 
शादी के बाद उन्होंने अपना सारा जीवन दिलीप कुमार को ही समर्पित कर दिया। पिछले कई वर्षों से वह दिलीप कुमार के हर दुःख सुख में साए की तरह उनके साथ रहती हैं। 
9/9
सायरा बानो ने फिल्म इंडस्ट्री को कई सारी यादगार फिल्में दी हैं। उन्होंने जंगली, अप्रैल फूल, पड़ोसन, झुक गया आसमान, पूरब और पश्चिम, विक्टोरिया नंबर 203, आदमी और इंसान और जमीर जैसी बहुत सी फिल्मों में अपने बेहतरीन अभिनय का प्रदर्शन किया है।
सायरा बानो ने फिल्म इंडस्ट्री को कई सारी यादगार फिल्में दी हैं। उन्होंने जंगली, अप्रैल फूल, पड़ोसन, झुक गया आसमान, पूरब और पश्चिम, विक्टोरिया नंबर 203, आदमी और इंसान और जमीर जैसी बहुत सी फिल्मों में अपने बेहतरीन अभिनय का प्रदर्शन किया है।