डकैती की तैयारी में रहे गिरोह से 16 मामले उजागर

पिंपरी. पेट्रोल पंप पर डाका डालने की तैयारी में रहे एक गिरोह पर पिंपरी-चिंचवड़ पुलिस की क्राइम ब्रांच के फिरौती और डकैती विरोधी दस्ते ने शिकंजा कस लिया है. इस गिरोह के 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है.अब तक उनसे 16 आपराधिक मामले उजागर हुए हैं. साथ ही 22 मोबाइल फोन, सोने के जेवर, दो दोपहिया कुल 4 लाख 40 हजार 550 रुपये का माल भी बरामद किया गया है. गिरफ्तार आरोपियों में राहुल रमेश चव्हाण (19), शेखर संभाजी जाधव (21), करण गुरुनाथ राठोड (19), कृष्णा संजय तांगतोडे (20) और विकी कमल मांझी शामिल है.

डकैती और फिरौती विरोधी दस्ते के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक सुधीर अस्पत ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि उक्त आरोपियों की तब पुलिस टीम ने धरदबोचा जब वे दिघी में एक पेट्रोल पंप पर डाका डालने जा रहे थे.पूछताछ में इस गिरोह ने भोसरी, चिखली, आलंदी परिसरों में सेंधमारी, वाहनचोरी और लूटपाट जैसी वारदातें स्वीकारी.उनसे 2 लाख 81 हजार रुपए के 22 मोबाइल फोन, 70 हजार रुपए का सोने का मंगलसूत्र और झुमके, 90 हजार 550 हजार रुपए के दो दोपहिया आदि बरामद किए गए हैं. इस कार्रवाई से भोसरी थाने में दर्ज लूटपाट के नौ, सेंधमारी के दो, वाहनचोरी के तीन कुल 14 और चिखली और आलंदी थानों में दर्ज एक-एक कुल 16 मामले उजागर हुए हैं.

इनमें से आरोपी शेखर जाधव के खिलाफ उदगीर शहर और उदगीर ग्रामीण पुलिस थानों में वाहनचोरी के तीन और भोसरी थाने में सेंधमारी के दो मामले दर्ज हैं.आरोपी कृष्णा तांगतोडे के खिलाफ नासिक जिले के मनमाड शहर, सिन्नर और इंदिरानगर थानों में सेंधमारी के 3 आरोपी करण राठोड के खिलाफ भोसरी थाने में मारपीट का एक और आरोपी विकी मांझी के खिलाफ एमआईडीसी भोसरी और भोसरी थाने में सेंधमारी के 2 मामले दर्ज हैं.