gold

    पुणे. निवेशकों के गबन किए गए पैसों से समृद्ध जीवन के मुखिया महेश मोतेवार (Mahesh Motewar) ने पुणे (Pune) के श्रद्धास्थान दगडूशेठ गणपति (Dagduseth Ganpati ) को डेढ़ किलो सोने (Gold) के जेवर (Jewelry) दान किए जाने की चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। मोतेवार द्वारा दान किए गए 60 लाख 50 हज़ार रुपए की कीमत के डेढ़ किलो सोने के जेवर सीआईडी (CID) ने जब्त किया है। गौरतलब है कि महेश मोतेवर समृद्ध जीवन घोटाला मामले में गिरफ्तार है। 

    महेश मोतेवार ने 2013 में पुणे के दगडूशेठ गणपति को डेढ़ किलो सोने का जेवर अर्पित किया था। इसमें सोने का हार, त्रिशूल, परशु का समावेश है। सीआईडी ने घोटाला प्रकरण की जांच के दौरान गणपति को अर्पित किए गए गहने की जानकारी सामने आई। धर्मादाय आयुक्त के आदेश पर यह कार्रवाई की गई। समृद्ध जीवन मल्टिस्टेट पर्पस को-ऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड ने विविध योजनाओं का प्रलोभन देकर देश भर के लाखों लोगों को आर्थिक निवेश के लिए उकसाया। इसमें 2512 करोड़ रुपए का गबन किया गया। 

    मोतेवार को 2015 में गिरफ्तार किया गया था

    इस मामले में मोतेवार के 207 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी ईडी ने अटैच की है। लाखों निवेशकों के करोड़ों रुपए की ठगी के मामले में महेश मोतेवार को 2015 में गिरफ्तार किया गया था। राज्य सीआईडी के उपविभागीय अधिकारी मनीषा पाटिल ने कहा कि महेश मोतेवार ने निवेशकों से ठगी कर आर्थिक घोटाले के पैसो का इस्तेमाल उसने कहां किया है? इसकी जांच की जा रही है। इसी समय गहने की जानकारी सामने आई। ये सबित हो गया कि निवेशकों के पैसे से मोतेवार ने ये गहने लिए हैं। इसके बाद हमने दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट से संपर्क किया। धर्मादाय आयुक्त को ये गहने जांच के लिए चाहिए थे। इसके बाद धर्मादाय आयुक्त ने ट्रस्ट को पत्र भेजकर जांच में सहयोग करने को कहा। इसके अनुसार ट्रस्ट ने इस मामले में सहयोग करते हुए मोतेवार द्वारा दान किए गए सभी जेवर हमारे कब्जे में दे दिया है। इससे पहले मोतेवार के पास से 40 लाख का माल जब्त किया गया है। 

    दान किए गए गहने सीआईडी को सौंप दिए

    इस संदर्भ में दगडूशेठ हलवाई गणपति ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष महेश सूर्यवंशी ने कहा कि गरीबों का श्राप लेकर अर्पण किए गए गहने बप्पा भी स्वीकार नहीं करते हैं। बप्पा के चरणों में कई लोग कुछ ना कुछ अर्पण करते हैं। उस समय ये पता नहीं होता कि वो कौन हैं। धर्मादाय आयुक्त हमारे प्रमुख हैं, उनके आदेशानुसार हमने मोतेवार द्वारा दान किए गए गहने सीआईडी को सौंप दिए।