बंद की अवधि में दुकान का किराया न लिया जाए

  • व्यापारियों ने की दुकान मालिकों से अपील

पिंपरी. पिंपरी कैंप व परिसर में बड़े पैमाने पर कोरोना मरीज बढ़ रहे हैं. इसके लिए पिंपरी कैंप बंद रखने को लेकर व्यापारियों के बीच बैठक हुई. बैठक में जो दुकानें किराए की हैं, उन दुकान मालिकों को बंद की अवधि में दुकानों का किराया नहीं लेने की अपील व्यापारियों ने की है. अगर दुकान बंद रहेगी तो कामकाज नहीं होगा, लेकिन किराए को लेकर होने वाली परेशानी झेलना मुश्किल है. इस तरह का दर्द व्यापारियों ने बयां किया. 

कोरोना की श्रृंखला को तोड़ने के लिए पिंपरी कैंप की सभी दुकानों को बंद रखने के लिए सभी की सहमति है. इस मौके पर श्री एसोसिएशन के डायरेक्टर श्रीचंद आसवानी ने व्यापारियों के किराये को लेकर रास्ता निकालने के साथ व्यापारियों की सभी समस्याओं के समाधान के लिए निरंतर प्रयासरत रहने का भरोसा दिया.

 व्यापारियों की हुई बैठक

 पिंपरी के गीतांजलि दुकान में व्यापारियों की कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर व्यापारियों के रूख को लेकर बैठक सम्पन्न हुई. इस बैठक में श्री एसोसिएशन के डायरेक्टर श्रीचंद आसवानी, न्यू भारत ट्रेडर्स प्रकाश लखवानी, गीतांजलि के कन्हैयालाल मेघराजानी, घनश्याम टेक्सटाइल्स के प्रभु जोधवानी, कुमार कनेक्शन के जयराम नामदेव, करण ड्रेसेस के प्रकाश रतनानी, क्लासिक दुकान के नीरज चावला, महालक्ष्मी के सुरेश शर्मा सहित 25 से 26 व्यापारी बैठक में शामिल थे. बैठक में पिंपरी कैंप के व्यापारी वर्ग के साथ शहर में हर दिन कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने पर चर्चा हुई. इसकी श्रृंखला को तोड़ने के लिए पिंपरी कैंप की सभी दुकानों को बंद रखने पर सभी व्यावारियों ने सहमति जताई. व्यापारियों ने कहा कि लगातार 8 दिनों तक दुकानें बंद रखने में किसी को कोई ऐतराज नहीं है, लेकिन किराये की दुकानों को लेकर व्यापारी काफी चिंतित हैं. बैठक में भीड़-भाड़ न, हो इसके लिए प्रशासन को पूरा सहयोग देने का निर्णय लिया गया.