Why did Ravi Landge again target the 'loved ones', know what is the matter

    पिंपरी. स्थायी समिति (Standing Committee) सभापति पद से मौका चूकने के बाद समिति की सदस्यता से इस्तीफा देकर ‘मेरी क्या गलती थी?’ के होर्डिंग लगाकर सत्तादल भाजपा (BJP) के नगरसेवक रवि लांडगे (Corporator Ravi Landge) ने भोसरी समेत समस्त पिंपरी-चिंचवड़ शहर (Pimpri-Chinchwad City) में सियासी खलबली मचा दी। अभी इसकी चर्चा थमी भी नहीं कि उन्होंने मनपा के भोसरी हॉस्पिटल की आड़ में फिर एक बार उनकी पार्टी भाजपा के ‘अपनों’ पर निशाना साधा है। उन्होंने एक सनसनीखेज आरोप लगाया है कि निजीकरण (Privatization) की योजना विफल बनने से आहत ‘कुछ’ लोगों ने प्रशासन के साथ मिलकर भोसरी हॉस्पिटल में आईसीयू यूनिट (ICU Unit) नहीं होने देने की साजिश रची है। 

    गुरुवार को रवि लांडगे ने मनपा कमिश्नर राजेश पाटिल से मुलाकात की और भोसरी हॉस्पिटल में आईसीयू यूनिट शुरू करने की मांग की है। इस मसले पर उन्होंने मनपा कमिश्नर को एक ज्ञापन भी सौंपा है, जिसमें उनकी मांग के साथ उक्त खुलासा भी उल्लेखित है। उन्होंने कहा कि एक तरफ कोविड केयर सेंटर के नाम पर प्रशासन द्वारा करोडों रुपए फूंके जा रहे हैं, मनमाने दामों पर खरीददारी की जा रही है। दूसरी तरफ, भोसरी हॉस्पिटल में जरूरी आईसीयू यूनिट को शुरू करने को लेकर उदासीनता दिखाई जा रही है। इससे पहले मनपा के इस हॉस्पिटल के निजीकरण की साजिश रची थी, जिसे भोसरीवासियों ने सड़कों पर उतरकर विफल बना दिया। उसी से आहत ‘कुछ’ लोगों ने अब इस हॉस्पिटल में आईसीयू यूनिट न होने देने की साजिश रची है। इस साजिश में कहीं मनपा प्रशासन की मिलीभगत तो शामिल नहीं है? यह संदेह भी उन्होंने जताया है। 

    रवि लांडगे के बगावती तेवर फिर साफ-साफ झलके

    भोसरी की धावड़े बस्ती के समावेशवाले प्रभाग से निर्विरोध नगरसेवक चुनकर मनपा चुनाव में भाजपा का खाता खोलनेवाले रवि लांडगे के इस बयान ने पिंपरी-चिंचवड़ के सियासी गलियारों में फिर एक बार खलबली मचा दी है। क्योंकि भोसरी हॉस्पिटल के निजीकरण के वक्त भी उन्होंने ‘अपनों’ के खिलाफ मोर्चा खोला था। अब आईसीयू यूनिट की मांग की आड़ में उन्होंने फिर एक बार फिर एक बार ‘अपनों’ पर निशाना साधा है। इससे रवि लांडगे के बगावती तेवर फिर साफ-साफ झलके हैं। उनके तेवर साफ बता रहे हैं कि उनकी नाराजगी जल्दी दूर होने वाली नहीं है। 

    सड़कों पर उतरने की चेतावनी 

    बहरहाल लांडगे ने महामारी कोरोना के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर भोसरी की गरीब जनता के लिए वरदान साबित भोसरी हॉस्पिटल में आईसीयू यूनिट, जिसकी कोरोना काल में सबसे ज्यादा जरूरत है, शुरू करने की मांग को लेकर फिर एक बार नागरिकों के साथ सड़कों पर उतरने की चेतावनी दी है। साथ ही विशेष सर्वसाधारण सभा का आयोजन कर भोसरी हॉस्पिटल के निजीकरण के प्रस्ताव को हमेशा के लिए खारिज करने और उसका संचालन मनपा के जरिये कराने की मांग भी दोहराई है।