IPL Governing Council meeting today, many important issues will be discussed

मुंबई: यूएई में आईपीएल 2020 को निर्धारित करने के लिए सरकार की अनुमति अभी भी लंबित है। लेकिन आईपीएल की गवर्निंग काउंसिल आज शाम को बैठक कर इस पर चर्चा करेगी। ये मीटिंग रविवार शाम 5 बजे होनी है। इस बैठक में आईपीएल 2020 के लिए  फाइनल डेट्स, कार्यक्रम और ओपनिंग सेरिमनी स्थल, टूर्नामेंट के 13 वें संस्करण के लिए लॉजिस्टिक्स और मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के साथ-साथ, आईपीएल के चीनी स्पोंसर्स संबंधित मुद्दे पर भी चर्चा की जाएगी।  

इस बैठक की अध्यक्षता काउंसिल के अध्यक्ष बृजेश पटेल करेंगे और बीसीसीआई के अंतरिम सीईओ हेमांग अमीन, बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह, कोषाध्यक्ष अरुण धूमल सहित अन्य शामिल होंगे। बैठक में मुख्य तौर पर आईपीएल के इन मुद्दों पर चर्च होने की उम्मीद है:

– गवर्निंग काउंसिल की पिछली तीन बैठकों के मिनट को अप्रूवल  

– सरकार की मंजूरी का अभी इंतजार है और यूएई सरकार से आधिकारिक अप्रूवल का भी इंतजार है, जो एमिरेट्स क्रिकेट बोर्ड द्वारा हासिल की जाएगी, बैठक में इस पर भी चर्चा होगी। 

– टूर्नामेंट 19 सितंबर से शुरू होकर या तो 51 दिनों में ख़त्म होगा या फिर 53 दिनों में। बैठक में अहम चर्चा का विषय फाइनल पर होगा। बताया जा रहा है की फ़ाइनल 10 सितंबर को कराया सकता है, जिससे प्रसारकों को दीपावली में अधिक फायदा मिलेगा।   

– चीनी स्पोंसर्स के संबंध में फैसले पर भी चर्चा की जाएगी ।

चीनी कंपनी वीवो टाइटल प्रायोजक है, जबकि पे टीएम, ड्रीम 11, बाईजूस और स्विगी में चीनी निवेश की खबर है। भारत और चीन के बीच मौजूदा माहौल को देखते हुए इस मुद्दे पर भी चर्चा होगी। एक रिपोर्ट के अनुसार, इन स्पोंसर्स से बीसीसीआई को सालाना करीब 440 करोड़ की आमदनी होती है।

 – करीब  240 पेज का एसओपी तैयार किया गया है। 

पिछले एसओपी में बदलाव किए गए हैं। इन एसओपी में कोरोना टेस्ट टीम मेम्बर्स की संख्या को लेकर भी निर्देश हैं। खबर है, टीम संख्या 40 तक सीमित की जा सकती है। बीसीसीआई की एसओपी को फ्रेंचाइजी द्वारा अपग्रेड किया जा सकता है। इस बैठक में इस पर भी चर्चा की जाएगी।

– कोरोना महामारी के चलते आईपीएल के गवर्निग काउंसिल के सदस्यों की यात्रा करने की अनुमति के विषय पर भी चर्चा की जाएगी। 

– खिलाड़ी की जगह किसी अन्य को शामिल करने के प्रोसेस पर भी चर्चा की जाएगी।   

– संभावना है कि बीसीसीआई अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की एंटी करप्शन यूनिट टीम के रखकर, उनकी सेवाएं लेने और उन्हें उनकी सेवाओं का भुगतान करने का ज़िम्मा लेने को लेकर भी चर्चा हो सकती है।

 – बीसीसीआई की अपनी चिकित्सा टीम को लेकर जाने या फिर यूएई में टीम तैयार करने को लेकर भी बात हो सकती है।