Pujara, Team India
Photos: BCCI

    बर्मिंघम. मोहम्मद सिराज (66 रन पर चार विकेट) की शानदार गेंदबाजी ने जॉनी बेयरस्टो (106 रन) की बेहतरीन शतकीय पारी के असर को कम किया, तो वही पुराने रंग में लौटे चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 50 रन) ने क्रीज पर पैर जमाकर भारत को इंग्लैंड के खिलाफ पांचवें टेस्ट के तीसरे दिन रविवार को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद भारत का स्कोर 45 ओवर में तीन विकेट पर 125 रन था। इस समय पुजारा के साथ पहली पारी के शतकवीर ऋषभ पंत (30) रन बनाकर खेल रहे थे। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 50 रन की अटूट साझेदारी कर ली है।

    पारी का आगाज करने वाले पुजारा ने एक छोर संभाले रखा और दिन के आखिरी ओवर में जो रूट के खिलाफ एक रन लेकर टेस्ट करियर का 33वां अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने अब तब 139 गेंद की नाबाद पारी में चार चौके लगाये। टीम में वापसी करने वाले इस बल्लेबाज ने पंत से पहले हनुमा विहारी (11) के साथ दूसरे विकेट के लिए 37 और पूर्व कप्तान विराट कोहली (20) के साथ तीसरे विकेट के लिए 32 रन की साझेदारी की कोहली एक बार फिर मैदान पर समय बिताने के बाद बड़ा स्कोर खड़ा करने में नाकाम रहे।

    उन्होंने 40 गेंद की पारी में चार शानदार चौके लगाये और लय में दिख रहे थे लेकिन कप्तान बेन स्टोक्स (22 रन पर एक विकेट) की गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेने के बाद विकेटकीपर के हाथों से छिटककर पहले स्लिप में खड़े जो रूट के हाथों में चली गयी। इससे पहले जॉनी बेयरस्टो की शतकीय पारी के दम पर इंग्लैंड ने की पहली पारी में 284 रन बनाये।

    दिन का शुरुआती सत्र पूरी तरह से बेयरस्टो (140 गेंद में 106 रन) के नाम रहा दूसरे दिन के खेल के दौरान संघर्ष करने वाले बेयरस्टो को तीसरे दिन शुरुआती 20 मिनट के खेल के दौरान परेशानी का सामना करना पड़ा। इसके बाद भारत के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने बेयरस्टो की बल्लेबाजी पर कुछ टिप्पणी की और इंग्लैंड के बल्लेबाज ने अपने खेलने का अंदाज बदल दिया।

    बेयरस्टो ने मिड ऑफ और मिड विकेट के ऊपर से कुछ अच्छे चौके लगाये। उन्होंने मोहम्मद सिराज और शारदुल के खिलाफ छक्के भी जड़े। दिन के दूसरे सत्र में हालांकि सिराज (66 रन पर चार विकेट) ने भारतीय टीम की वापसी करायी, जहां उन्हें मोहम्मद शमी (78 रन पर दो विकेट) के बनाये दबाव का फायदा मिला ।

    बेयरस्टो ने शारदुल ठाकुर (48 रन पर एक विकेट) के खिलाफ चौका जड़कर टेस्ट करियर का 11वां और लगातार तीसरे मैच में शतक पूरा किया। इसके बाद कप्तान जसप्रीत बुमराह ने (68 रन पर तीन विकेट) ने कसी हुई गेंदबाजी कर उन पर दबाव बना दिया। जिससे अपनी पारी में 14 चौके और दो छक्के लगाने वाले बेयरस्टो अगली 20 गेंदों में सिर्फ छह रन बना सके। दबाव को कम करने के लिए उन्होंने बड़ा शॉट लगाने के प्रयास में स्लिप में कोहली को कैच थमा दिया। बेयरस्टो और सैम बिलिंग्स (36) की 92 रन की साझेदारी टूटने के बाद सिराज ने 43 रन के अंदर इंग्लैंड के बाकी बचे तीनों विकेट चटका दिये। पहली पारी में 132 रन की बढ़त लेने के बाद दूसरी पारी में भारत की शुरुआत खराब रही। पहले ही ओवर में जेम्स एंडरसन (26 रन पर एक विकेट) ने शुभमन गिल (चार) को चलता किया।

    दिन के आखिरी सत्र में स्टुअर्ट ब्रॉड (38 रन पर एक विकेट) ने विहारी को आउट कर भारत को दूसरा झटका दिया तो वही स्टोक्स ने कोहली का विकेट चटकाया।  इसके बाद पुजारा और पंत ने इंग्लैंड के गेंदबाजों को ज्यादा मौके नहीं दिये और धैर्य के साथ खेलते हुए खराब गेंदों पर रन बटोरे। पंत ने अब तक 46 गेंद की पारी में चार चौके जड़े। इससे पहले दिन के शुरुआती सत्र में बेयरस्टो ने कप्तान बेन स्टोक्स (25) के साथ छठे विकेट के लिए 66 रन की साझेदारी की।

    शारदुल ठाकुर की गेंद पर कप्तान जसप्रीत बुमराह ने डाइव लगाकर शानदार कैच पकड़ स्टोक्स की 36 गेंद की पारी को खत्म किया। इस विकेट से पहले इंग्लैंड ने पारी के 33वें से 36वें ओवर में सात चौके लगाये और स्टोक्स को दो जीवनदान मिले। इंग्लैंड के कप्तान के गगनचुंबी शॉट को शारदुल लपकने में नाकाम रहे और इसके बाद उनकी गेंद पर बुमराह ने आसान कैच टपकाया। बुमराह ने इसके बाद हालांकि शानदार कैच पकड़ कर स्टोक्स को बड़ी खेलने का मौका नहीं दिया। (एजेंसी)