Faf du plessis

सेंचुरियन: कप्तानी के बोझ से मुक्त होने के बाद दिग्गज बल्लेबाज फाफ डु प्लेसिस (Faf du Plessis) ने श्रीलंका (Sri Lanka) के खिलाफ पहले टेस्ट मैच (First Test Match) के तीसरे दिन करियर की सर्वश्रेष्ठ 177 रन की नाबाद (Not Out) पारी खेली जिसकी मदद से दक्षिण अफ्रीका (South Africa) ने सोमवार को चाय के विश्राम तक 169 रन की बढ़त कायम कर ली। चाय के विश्राम के लिए खेल रोके जाते समय दक्षिण अफ्रीका ने छह विकेट पर 565 रन का बड़ा स्कोर खड़ा कर लिया है। 

श्रीलंका ने पहली पारी में 396 रन बनाये थे। श्रीलंका के चार गेंदबाज इस दौरान चोटिल हो गये जिसमें लेग स्पिनर वानिंदु हसरंगा (Wanindu Hasaranga) ही गेंदबाजी के लिए वापस मैदान पर आये, लेकिन वह भी लय में नहीं दिख रहे थे। ऑफ स्पिनर धनंजय डिसिल्वा (Dhananjay DeSilva) पहले दिन बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हुए थे जबकि तेज गेंदबाज कासुन राजिता (Kasun Rajitha) मैच के दूसरे दिन सिर्फ 13 गेंद फेंकने के बाद लंगड़ाते हुए मैदान से बाहर चले गये। 

टीम के दूसरे तेज गेंदबाज वानिंदु हसरंगा भी चोट के कारण पूरे सत्र मैदान से बाहर रहे। डुप्लेसिस ने दो साल में पहली बार शतकीय पारी खेली है। यह उनके करियर का 10वां शतक है। उन्होंने इस दौरान 23 चौके लगाये। 

डुप्लेसिस ने इस दौरान तीन बड़ी साझेदारी की जिसमें तेंबा बाउमा (Temba Bavuma) (71) के साथ पांचवें विकेट के लिए 179 रन जोड़ेने के बाद वियान मुल्दर (Wiaan Mulder) (36) के साथ उन्होंने छठे विकेट के लिए 77 रन की साझेदारी की। केशव महाराज (Keshav Maharaj) (43) के साथ उन्होंने अब तब 89 रन की अटूट साझेदारी कर ली है। दक्षिण अफ्रीका ने दिन की शुरूआत चार विकेट पर 317 रन से किया था और श्रीलंका को दोनों सत्र में एक-एक सफलता मिली। 

बाउमा लंच से पहले जबकि मुल्दर दूसरे सत्र में आउट हुए। बाउमा हरफनमौला दासुन शनाका (Dasun Shanaka) (92 रन पर दो विकेट) की गेंद पर विकेट के पीछे लपके गये जबकि मुल्दर को हसरंगा (143 रन पर दो विकेट) ने आउट किया। (एजेंसी)