Houston University partners with Indian-American company to develop Corona vaccine

नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस ने दुनिया में कोहराम मचा रखा है। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए बहुत सी कंपनिया प्रयासरत है। अब दावा किया जा रहा है कि हैदराबाद में बेस्‍ड कंपनी हेटरो ने रेमडेसिवीर का जेनेरिक वर्जन कोविफोर के नाम से बनाया गया है। हेटरो के मुताबिक, कोविफोर का 100 मिलीग्राम 5,400 रुपये में बेचा जा रहा है। कंपनी ने 20,000 की पहली खेप पांच राज्यों में भेजे है जिसमे दिल्‍ली, महाराष्‍ट्र, गुजरात और तमिलनाडु का नाम शामिल है। साथ ही तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में इस दवा की पहली खेप का इस्तेमाल किया जायेगा। माना जा रहा है कि यह दवा कोरोना वायरस को खत्म करने में बेहद प्रभावशली है। कंपनी ने तीन-चार हफ्तों में एक लाख दवाईयां तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। 

अगली खेप यहां भेजी जाएगी

हैदराबाद में कंपनी की फॉर्म्‍युलेशन फैसिलिटी में इसका इंजेक्‍शन बनाया जा रहा है। साथ ही दवा को ऐक्टिव फार्मास्‍यूटिकल इन्‍ग्रीडिएंट (API) विशाखापट्नम की यूनिट में बनाया जा रहा है। दवा की अगली खेप भोपाल, इंदौर, कोलकाता, पटना, लखनऊ, रांची, भुवनेश्‍वर, कोच्चि, विजयवाड़ा, गोवा और त्रिवेंद्रम भेजी जाएगी। फ़िलहाल यह दवाईयां केवल अस्‍पताल और सरकार के जरिए ली जा सकती है, मेडिकल स्‍टोर्स में यह उपलब्ध नहीं है। 

रेमडेसिवीर घटाती है रिकवरी में लगने वाला वक्‍त

द न्‍यू इंग्‍लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन (NEJM) के मुताबिक, कोविड-19 मरीजों के इलाज में रेमडेसिवीर का 10 दिन का कोर्स प्‍लेसीबो से कहीं ज्‍यादा असरदार साबित हुआ। दोनों तरीकों से इलाज के बाद रिकवरी में लगने वाला समय रेमडेसिवीर में कम था। ट्रायल के समय रेमडेसिवीर के नतीजे काफी अच्छे रहे है। रिसर्चर्स का सुझाव था कि यह दवा उन मरीजों पर इस्‍तेमाल हो सकती है जो कोविड-19 से पीड़‍ित हैं और जिन्‍हें सप्‍लीमेंटल ऑक्‍सीजन थेरपी की जरूरत है।