PHOTO- @bageshwardham
PHOTO- @bageshwardham

    रायपुर: बागेश्वर धाम सरकार पं. शास्त्री (Bageshwar Dham Sarkar Pt. Shastri) नागपुर में कथा कराने गए थे। इसी दौरान नागपुर की अंध श्रद्धा निर्मूलन संस्था (Andh Shraddha Nirmulan Sanstha) ने उन पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था। जिसके बाद से ही विवाद बढ़ गया है। आये दिन इसको लेकर नए-नए बयान आ रहे हैं। बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) पर के अंधविश्वास फैलाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। अब इस मामले पर खुद बागेश्वर धाम सरकार ने एक वीडियो जारी कर अपना पक्ष रखा है। पिछले कई दिनों से मीडिया में वह अपना पक्ष रखते आ रहे हैं। अब एक वीडियो जारी किया है।    

    बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री अभी छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रामकथा कर रहे हैं। बागेश्वर धाम सरकार ने एक वीडियो जारी कर अपना पक्ष रखा है। बागेश्वर धाम सरकार के ऑफिशियल टविटर हैंडल पर पं. धीरेंद्र शास्त्री ने एक वीडियो जारी कर कहा कि हमें इस विषय पर ज्यादा पड़ना नहीं है और ना जरूरी है। जब से सनातन धर्म के लिए घर वापसी का मुद्दा उठाया तब से आये दिन षड़यंत्र लगातार किए जा रहे हैं। 

    उन्होंने वीडियो में आगे कहा कि भारत की परंपराओं में कितनी मान्याताएं ऐसी नहीं हैं जो मान्यताएं समझ से परे हैं लेकिन वो उनकी निजी श्रद्धा है। हमारी हनुमान जी के प्रति अपनी निजी श्रद्धा है। लोग आते हैं। जैसे पिता पुत्र की बीमारी पर प्रार्थना करता है कि इसका भला हो वैसे ही हम गुरू होने के नाते अपने शिष्य के कल्याण के लिए प्रार्थना करते हैं और हमारे ईष्ट वैसी कृपा कर देते हैं तो क्या ये अंधविश्वास है।

    बता दें कि बागेश्वर धाम सरकार पं. शास्त्री 5 से 11 जनवरी तक नागपुर में कथा कराने गए थे, इसी दौरान नागपुर की अंध श्रद्धा निर्मूलन संस्था ने उन पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था। वह अपनी कथा भी दो दिन पहले खत्म कर दी और नागपुर से वापस चले आए। अब वह छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में रामकथा करा रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से वह टीवी चैनलों पर छाए हुए हैं।