Shraddha Murder Case
File Pic

    नई दिल्ली. आज श्रद्धा मर्डर केस (Shrdhha Murder Case) के मुख्य आरोपी आफताब (Aftab) का नारको टेस्ट (Narco Test) होना है। इस अतिमहत्वपूर्ण नार्को टेस्ट के लिए, दिल्ली पुलिस आरोपी आफताब को लेकर अंबेडकर अस्पताल पहुंच चुकी है। इसके साथ ही उसका टेस्ट भी शुरू हो चूका है ।

    नार्को टेस्ट के लिए पंहुचा आफ़ताब 

    आज आफताब को तिहाड़ जेल से दिल्ली पुलिस की 3rd बटालियन लेकर निकली थी। वहीं आज उसके नार्को टेस्ट के लिए आफताब को अंबेडकर हॉस्पिटल में जाया गया है। हालांकि अब आफ़ताब ‘शाति’र हो चूका है, साथ ही वह पुलिस को चकमा देने के लिए, वह ऐसा व्यवहार कर रहा है कि, मानो वह बेहद सीधा साधा व्यक्ति है और गलती से इस मामले में फंसा है।

    लेकिन अब तक की रिपोर्ट और प्राप्त सबूत तो यही बताते हैं कि, आफ़ताब ने विधिवत और सोच समझकर एक  योजनावद्ध तरीके से अपने लिवइन पार्टनर श्रद्धा की ना केवल हत्या की, बल्कि योजना के मुताबिक ही शव के टुकड़ों को ठिकाने भी लगाता रहा। 

    क्या दे रहा पुलिस को चकमा 

    वहीं पुलिस के मुताबिक, आफताब से कुछ भी पूछो, तो बड़े ही शांत भाव से जवाब देता आ रहा है। उसने पॉलीग्राफी और नार्को के लिए सहज ही अपनी सहमति दे दी है। इसके लिए पुलिस को अब तक कुछ खास नहीं करना पड़ा। हालांकि यह थोडा आश्चर्यजनक भी है। वह चाहता तो इससे साफ़ मना कर सकता था। ऐसा करता तो पुलिस के लिए और भी मुश्किल हो जाती। ऐसे में पुलिस अब यह भी जानना चाहती है कि, आखिर इतना शातिर और निर्दयी आदमी सहज और इतना आज्ञाकारी होने का दिखावा क्यों कर रहा है। इसीलिए उसका नार्को टेस्ट अब और भी जरुरी हो गया था।

    कुबूला हत्या की बात 

    हालांकि उसके पॉलीग्राफ टेस्ट (Polygraph Test) करने वाले फोरेंसिक अधिकारियों के सूत्रों के हवाले से खबर थी  कि पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान आफताब ने यह कुबूल किया है कि उसने ही श्रद्धा की हत्या की है। हालांकि अफताब को श्रद्धा की हत्या करने का अब कोई भी अफसोस नहीं है। पता हो कि, 28 साल के आफताब ने 18 मई को 27 साल की श्रद्धा का मर्डर कर दिया था। उसने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए थे। दोनों लिव-इन में रहा करते थे।