उड़ान पुल से पुलिस पर पत्थर फेंकने वाले 2 अरेस्ट, सीसीटीवी के आधार पर पकड़ाये

    अमरावती. राजकमल चौक में उड़ान पुल से नीचे बंदोबस्त में तैनात पुलिस कर्मियों पर बड़े-बड़े पत्थर बरसाने वाले 2 आरोपियों को सोमवार को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी तुषार लक्ष्मण हरणे (22) व प्रतीक सुनील

    धुमाले (21, दोनों अर्जुननगर) को सीसीटीवी के आधार पर पकड़ा गया है. दोनों आरोपियों ने किस उद्देश्य से पुलिस कर्मी पर उड़ान पुल से नीचे पुलिस कर्मियों पर पत्थर फेंके. इस बारे में पुलिस पूछताछ कर रही है. 

    सौभाग्य से बची जान

    एसआरपीएफ के गट क्रमांक 9 के पुलिस उपनिरीक्षक अनिल अशोकराव अंभोरे(47) अपने सहयोगी जवानों के साथ 18 नवंबर की रात राजकमल चौक में बंदोबस्त में तैनात थे. इसी दौरान सफेद रंग की मोपेड पर उड़ान पुल से जा रहे दो आरोपियों ने एक बड़ा पत्थर नीचे पुलिस कर्मियों पर फेंका. जिसके बाद मोपेड सवार यह आरोपी फरार हो गए. अचानक हुई इस घटना के दौरान यूनियन बैंक के सुरक्षा रक्षक व पुलिस कर्मी ने आवाज देकर पुलिस उपनिरीक्षक अंभोरे को वहां से हटाया.

    जिसके कारण सौभाग्य से एसआरपीएफ के जवान बाल-बाल बच गए. जान से मारने के उद्देश्य से डिवाइडर पर सीमेंट का बड़ा पत्थर फेंके जाने की पुलिस रिपोर्ट पीएसआई अंभोरे ने कोतवाली थाने में दर्ज कराई. जिसके अनुसार पुलिस ने हत्या के प्रयास का मामला समेत अन्य केसेस दर्ज किए थे.  

    विशेष दस्ते ने पकड़ाया 

    इस मामले की जांच के लिए सीपी डा. आरतीसिंह ने तत्काल राजापेठ विभाग के एसीपी भारत गायकवाड़ को विशेष दस्ता कतैयार करने के निर्देश दिए थे. इसी विशेष दस्ते ने घटना स्थल के पाश सीसीटीवी कैमरा की सहायता व गुप्त जानकारी के आधार पर मोपेड सवार दोनों आरोपियों को खोज निकाला. जिसके बाद दोनो को गिरफ्तार करने में सफलता पाई. डीसीपी विक्रम साली, एसीपी गाकवाड़ के मार्गदर्शन में राजापेठ के थानेदार मनीष ठाकरे, पुलिस कर्मी सागर सरदार, छोटेलाल यादव, निलेश गुल्हाने, दिनेश भिसे, विकास गुलधे, नरेश मोहरील ने यह कार्रवाई की.