स्वास्थ्य अधिकारियों की 17 को काम बंद की चेतावनी, जिप सीइओ से बकाया वेतन देने की मांग

    अमरावती. सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी कोरोना काल में जान की परवाह किए बगैर काम कर रहे हैं. लेकिन, पिछले दो माह से उन्हे वेतन नहीं दिया गया है. इसलिए जिले के 279 सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी नाराज जिला परिषद मुख्य कार्यपालन अधिकारी कार्यालय पहुंचे और बकाया वेतन व सात माह के प्रोत्साहन भत्ते का तत्काल भुगतान करने की मांग की. मांगे तुरंत पूरी नहीं की गई तो 17 जनवरी से काम बंद आंदोलन की चेतावनी भी निवेदन के माध्यम से दी गई.

    आज से काले फिते लगाकर काम

    निवेदन में बताया गयया कि 12 से 16 जनवरी तक समुदाय अधिकारी काले फिते लगाकर मूक आंदोलन करेंगे. उसके बाद 17 जनवरी को सामूहिक रजा तथा एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करेंगे. इस समय डॉ.विकास नेहटकर, डॉ. शुभम वानखडे, डॉ. सोनाली देशमुख, संदीप दुबे, डॉ. अंकुश मानकर, गजानन शिंगणे, डॉ. शुभम झाडोकर, डॉ. श्वेता सांबे, डॉ. शिल्पा बोरकर, देविदास बनसोड, डॉ. साकीब शेख, डॉ सुरेश सोलंके, डॉ समाधान तायडे, सूरज पांडे, डॉ निखिल देशमुख, डॉ चैतन्य बुरखांडे सह आदि उपस्थित थे.