टिटंबा मोतीमाता यात्रा रद्द, बढते कोरोना संक्रमण के चलते प्रशासन का निर्णय

    धारणी. मेलघाट की यात्राओं को बहुत महत्व है. यहां के लोगों की मेलघाट के विभिन्न स्थानों की यात्रा और वहां के देवताओं के प्रति भी बहुत आस्था है. इसी प्रकार मजबूत आस्था वाली टिटम्बा मोतीमाता यात्रा को संगठन और वरिष्ठ प्रशासन ने बढ़ते कोरोना संक्रमण के बाद रद्द कर दिया है.

    भक्तों को गांव में आने मनाई

    धारणी तहसील मुख्यालय से लगभग 15 किलोमीटर अंतर पर टिटंबा गांव में प्रतिवर्ष जनवरी माह में  मोती माता यात्रा का बडे उत्साह से आयोजन किया जाता है. इस साल बढ़ते कारोना संक्रमण को देखते हुए टिटम्बा यात्रा संगठन और वरिष्ठ प्रशासन ने संयुक्त रूप से यात्रा रद्द करने का फैसला किया. सभी भावीक भक्तों को तीर्थ यात्रा के लिए टिटम्बा गांव में आने के लिए मनाई की गई है.

    मेलघाट के लोगों की मोती माता और टिटम्बा की यात्रा में बहुत आस्था है, जिससे अधिकांश भक्त नाराज हो गए हैं. अगले साल पूरे देश और मेलघाट को कोरोना से मुक्त कराकर मोती माता यात्रा पूरी कर मां के दर्शन करें, ऐसी मनोकामना मोती माता के भक्तों ने व्यक्त की है. मोतीमाता यात्रा संघ ने सभी भक्तों को अपने घरों से मोती माता के दर्शन करने की अपील की है.