औरंगाबाद पेयजल योजना को लेकर सीएम उद्धव ठाकरे गंभीर, काम जल्द पूरा करने के दिए निर्देश

    औरंगाबाद : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने औरंगाबाद (Aurangabad) की नई 1680 करोड़ की नई पेयजल योजना (Drinking Water Scheme) का काम गति से करते हुए किसी भी प्रकार की अड़चणे नहीं आएगी, इसकी दक्षता लेने के साथ ही काम की गुणवत्ता बरकरार रखने के सख्त निर्र्देश दिए। उन्होंने कहा, “मैं व्यक्तिगत रूप से दौरा करूंगा और काम का निरीक्षण करूंगा।” मुख्यमंत्री ने आज संकल्पकक्ष के माध्यम से किये जाने वाले कार्यों में शामिल औरंगाबाद की नई 1680 करोड़ की नई पेयजल योजना का  विस्तृत जायजा लिया. मुख्यमंत्री ने नई योजना का कार्य तय समय के अनुसार करने की बात दोहराते हुए निर्देश दिए कि पुरानी पेयजल आपूर्ति करने वाली पाइप लाइन बदलने का प्रस्ताव भी तत्काल पेश किया जाए। उन्होंने यह भी कहा कि अगली समीक्षा बैठक में ठेकेदार कंपनी के मालिक या कंपनी के वरिष्ठ प्रतिनिधि को भाग लेना चाहिए।

    बैठक में मौजूद अभिभावक मंत्री सुभाष देसाई ने भी कहा कि वह नियमित रूप से  नई पेयजल योजना के काम का समय-समय पर जायजा ले रहे है। बैठक में मुख्यमंत्री के सलाहकार सीताराम कुंटे, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव आशीष कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव विकास खड़गे, वन विभाग के प्रमुख सचिव वेणुगोपाल रेड्डी, शहरी विकास प्रमुख सचिव संजीव जायसवाल, महाराष्ट्र जीवन प्राधिकरण सदस्य सचिव अभिषेक कृष्ण, औरंगाबाद संभागीय आयुक्त सुनील केंद्रकर, कलेक्टर सुनील चव्हाण उपस्थित थे।

    केंद्र से फॉलोअप लें और अनुमति लें

    जायकवाडी बांध में जैकवेल के निर्माण के लिए प्रमुख सचिव वन के माध्यम से केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय को एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया गया है, जिसे जल्द से जल्द मंजूरी दी जाए। इसके लिए मैं खुद केंद्रीय वन और पर्यावरण मंत्री से भी बात करूंगा। लेकिन जब तक आपको यह अनुमति नहीं मिल जाती तब तक दूसरे काम रुकने न दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि पानी की टंकी, पाइप की कोटिंग के साथ-साथ खुदाई जैसे सभी कार्य गुणवत्तापूर्ण तरीके से किए जाएं, उन कार्यों को मैं व्यक्तिगत रूप से देखूंगा, मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर में पेयजल आपूर्ति के लिए तैयार प्राारुप को भी समय-समय पर परमिशन महानगरपालिका ने देनी चाहिए। ताकि, इससे किसी भी परिस्थिति में नई पेयजल योजना के काम में देरी ना हो। 

    पाइप की आपूर्ति शुरू

    ठेकेदार ने सभी 83.62 किलोमीटर डीआई पाइप्स मंगाए है। साथ ही 780 मीटर लंबाई वाले एमएस पाइप्स तैयार किए गए है, जिसके कोटिंग का काम युद्धस्तर पर जारी है। जल शुद्धिकरण केंद्र और पानी की टंकियों के दीवारों का काम भी गति से जारी है। 160 किलोमीटर के लिए एचडीपीआई पाइप की आपूर्ति की गई है। 13.04 किलोमीटर डीआई पाइप की आपूर्ति भी ठेकेदार को किए गए है। 

    बैठक में उपस्थित विभागीय आयुक्त सुनील केंद्रकर ने कहा कि पेयजल आपूर्ति योजना का काम प्राथमिकता से पूरा किया जा रहा है। नियोजनबद्ध तरीके से प्रारुप तैयार कर काम तेजी से जारी है। हम नागरिकों को भी विश्वास में ले रहे है। शहर की वर्तमान पेजयल आपूर्ति में सुधारना करने का प्रयास जारी है।  जायकवाडी बांध से 6 एमएलडी, हर्सूल बांध से 6 एमएलडी पेयजल आपूर्ति में बढ़ोतरी की गई है। इसमें और बढ़ोतरी करने के लिए अन्य प्रयास जारी होने की जानकारी कलेक्टर सुनील चव्हाण ने दी।