strike

    • विधायक श्वेता महाले द्वारा सफल मध्यस्थता

    बुलढाना. कोरोना के कारण राज्य परिवहन निगम में संविदा के आधार पर चालकों की भर्ती रोके जाने के कारण उक्त भर्ती को तत्काल कराने की मांग को लेकर लाभार्थियों द्वारा भूख हड़ताल शुरू की गई थी. चार दिनों के बाद विधायक श्वेता महाले द्वारा मध्यस्थता कर यह हड़ताल खत्म कराई गयी.

    इन चालकों द्वारा मांग की गई थी की, राज्य सड़क परिवहन निगम में चालक एवं वाहक सीधी सेवा भर्ती 2019 में सेवा पूर्व प्रशिक्षण पूर्ण कर चुके 138 अभ्यर्थियों को सरकार संविदा के आधार पर होने वाली भर्ती को निरस्त करते हुए तत्काल नियुक्ति करे, अंतिम चयन सूची में शामिल 263 उम्मीदवारों का प्रशिक्षण शुरू किया जाए, सूखा प्रभावित जिले के उम्मीदवारों की सेवा पूर्व प्रशिक्षण अंतिम परीक्षा आयोजित कर नियुक्ति की जाए, आदि मांगें की जा रही थी. चार दिनों के बाद भी प्रशासन ने इस आंदोलन की सुध नहीं ली. इस बात की जानकारी विधायक श्वेता महाले को मिलते ही उन्होंने तत्काल हड़ताल करने वालों से चर्चा कर सफल मध्यस्थता की. 

    इस समय पूर्व विधायक विजयराज शिंदे, भाजपा शहर अध्यक्ष सिद्धार्थ शर्मा, डा.कृष्ण कुमार सपकाल तहसील अध्यक्ष, एड.सुनील देशमुख, डा.राजेश्वर उबरहंडे तहसील महासचिव, योगेश राजपूत तहसील अध्यक्ष युवा मोर्चा, एड.मोहन पवार, सतीश पाटिल, अरविंद होंडे, विनायक भाग्यवंत, सोहम झालटे, मोहित भंडारी, अभिषेक वायकोस, अमोल सोनोने, प्रभाकर वारे आदि उपस्थित थे.