अधिक बरसात से सोयाबीन फल्ली में फूटे अंकुर, आर्थिक संकट में किसान

    वरोरा. तहसील के वडधा ( तू ) शेगांव बु परिसर में अधिक बरसात की वजह से  20 से 25 एकड की सोयाबीन की फल्ली में अंकुर निकल आए है. इसकी वजह से किसानों को आर्थिक संकट की मार झेलनी पडेगी.

    इस वर्ष पिछले 100 दिनों में चंद्रपुर जिले में 1002.5 मिमी बरसात दर्ज की गई है. वरोरा तहसील में प्रमुख रुप से कपास और सोयाबीन की पैदावार की जाती है. शेगांव परिसर के अधिकांश किसानों की पहली पसंद सोयाबीन है.

    इसलिए किसानों ने इसकी बुआई की है. किंतु अधिक बरसात की वजह से सोयाबीन की फल्ली अंकुरित हो रही है. तहसील में प्रमुख रुप से दो प्राजाति की सोयाबीन की पैदावार की जाती है. जिसमें एक जो जल्दी हो जाती है उसे अर्ली कहा जाता है और दूसरी बाद में निकलती है.

    अर्ली सोयाबीन की कटाई की इस महीने के अंतिम सप्ताह अथवा अक्टूबर के पहले सप्ताह में की जाती है. किंतु लगातार बरसात की वजह से किसान असमंजस में फंस गया है. क्योंकि वर्तमान समय पर किसान सोयाबीन की कटाई का प्रयास करता है तो वह कटती नहीं बल्कि जमीन में पानी होने से पौधे मिट्टी के साथ उखड आता है.

    यदि जल्दी सोयाबीन की कटाई नहीं की गई तो फल्लियों को और अधिक अंकुर फूटने की संभावना है जिससे किसानों का नुकसान होगा. इसलिए किसानें ने शासन से आर्थिक सहायता की फरियाद की है.