Polio free
Representational Pic

  • जिले में 17 जनवरी को पुलियो टीकाकरण

गडचिरोली. आनेवाले 17 जनवरी 2021 को सम्पूर्ण जिले में 0 से 5 आयु गुट के बच्चों को पुलियो का डोज देकर पोलियो टीकाकरण मुहिम सफल बनाए, ऐसा आह्वान जिलाधिकारी दीपक सिंगला ने किया.

पोलियो टीकाकरण के जिलास्तरीय समिती की बैठक मंगलवार को आयोजित की थी. उस समय वे बोल रहे थे. बैठक में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. शिशिकांत शंभरकर, जिला शल्य चिकित्सक डा. अनिल रुडे, जागतिक स्वास्थ्य संगठन के डा. साजिद, अतिरिक्त जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. विनोद म्हशाखेत्री, डा. पंकज हेमके, मुख्याधिकारी संजीव ओहोल उपस्थित थे. 

इस समय जिले की टीकाकरण मुहिम सफल बनाने के लिए नियोजन किया गया है. जिले के 0 से 5 आयु गुट के अपेक्षीत 89 हजार 710  लाभार्थीओं को पोलियो डोज दिया जानेवाला है. इसमें शहरी 8471 व ग्रामीण 81239 लाभार्थी होनेवाले है. इसके लिए 1 लक्ष 65 हजार आवश्यक पोलियो लस उपलब्ध हुई है. ग्रामीण 2093 व शहरी 46 ऐसे 2142 टीकाकरण बुथ पर पोलियो का डोज दिया जानेवाला है. इसमें 137 जगह पर बस स्टैंड, रेल्वेस्टेशन तथा अन्य ट्रान्झीट जगह पर पथक पोलियो टीकाकरण करनेवाले है. दुर्गम आदिवासी क्षेत्र में टीकाकरण करने के लिए 95 घुमंतु पथक होनेवाले है. 

मुहिम 100 प्रतिशत सफल बनाने के लिए नियोजन 

इसके पूर्व 11 मार्च 2018 को जिले में 97.80 प्रश, 10 मार्च 2019 को 99.14 प्रश व 19 जनवरी 2020 को 97.42 प्रश टीकाकरण मुहीम सफल रूप से संपन्न की गई थी. इस दौरान भी जिले की पोलियो टीकाकरण मुहिम 100 प्रश सफल करने के लिए नियोजन किया गया है. कोरोना पार्श्वभुमी पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से आवश्यक सतर्कता बरतकर अभिभावकों ने नजीक के पोलियो बुथ पर उस दिन 0 से 5 आयु गुट के बच्चों को डोज देने के लिए लेकर जाए, ऐसा आह्वान इस समय जिलाधिकारी दीपक सिंगला ने किया. 

कोरोना पार्श्वभूमी पर सतर्कता बरते 

स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी प्रकार की सतर्कता बरतकर टीकाकरण मुहिम चलाई जानेवाली है. छोटे बच्चों के अभिभावक किसी भी तरह का शक न कर मास्क का उपयोग, शारिरीक दुरी का पालन कर अपने बच्चों को पोलियो का डोज दे, ऐसा स्वास्थ्य विभाग की ओर से आह्वान किया गया है. पोलियो बुथ पर शारिरीक दूरी का पालन, भीड न कर टीकाकरण करना आवश्यक होने का स्वास्थ्य विभाग ने कहा है. 

जिले में 1999 के बाद पोलियो मरीज नहीं 

गडचिरोली जिले में 21 वर्ष पूर्व पोलिया मरीजों का अंतिम पंजीयन हुआ है. तथा 2014 इस वर्ष जिले को पोलियो फ्री जिले के रूप में घोषित किया है. किंतु इस वर्ष अफगाणीस्तान में 54 व पाकिस्तान में 86 पोलियो के मरीज मिलने से जागतिक स्वास्थ्य संगठन ने पोलियो टीकाकरण अभी भी पहले जितना महत्वपूर्ण होने का घोषित किया है. किसी भी तरह के बच्चों का टीकाकरण यह बच्चों में प्रतिकारशक्ती बढाने के लिए होती है. जिससे बच्चों को समय पर टीकाकरण करना आवश्यक है.