Wife's phone ring, robbery robbed - Ramna torn incident occurred

    गोंदिया. ओएल एक्स जैसे संकेत स्थल पर खरीदी बिक्री व्यवहार पर ऑनलाईन धोखाधड़ी का प्रमाण पिछले कुछ दिनों में अचानक बढ़ गया है. इसी में व्यवहार फटाफट हो इस उद्देश्य से शुरू की गई सुविधा (प्री अप्रुवल लिंक) या उस संबंध में उपयोगकर्ता पर अज्ञात प्रहार कर रहा है.

    जिला मुख्यालय में अनेक व्यक्तियों ने उनके साथ ऑनलाईन खरीदी में धोखाधड़ी होने की शिकायत की है. इसमें जो वस्तु ग्राहक चयन करता है वह वस्तु ग्राहकों को नहीं मिल रही है. जो दर्जा ऑनलाईन में दिखाया जाता है वह दर्जा प्रत्यक्ष में ग्राहकों को नहीं मिलता. अनेक बार पॅकिंग में दूसरी ही वस्तु होती है.

    जिससे ग्राहकों को संपूर्ण जानकारी लिए बिना लेन देन न करें ऐसा सतत बताया जा रहा है. लेकिन लालच का शिकार होने पर स्वयं ग्राहकों को चुना लग रहा है. ऑनलाईन शॉपिंग करने के पीछे उद्देश्य व्यवहार फटाफट हो इसके लिए संबंधित एप तैयार करने वाली कंपनी ने यह सुविधा उपलब्ध कराई है.

    इसमें धोखाधड़ी टालने के लिए प्रत्यक्ष में कोई वस्तु खरीदी करते समय या बिक्री करते समय जो व्यवहारिकपना होता है वही ऑनलाईन व्यवहार में भी होना आवश्यक है. आर्थिक व्यवहार प्रत्यक्ष भेंट कर, खरीदी बिक्री के बाद करें. वस्तु खरीदी करने वाले ने लिंक भेजने पर उस पर कोई भी जानकारी विशेषकर एप पर खाते का विवरण न दें. ऑनलाईन शॉपिंग में समय समय पर सतर्कता बरतना जरूरी है क्योंकि इसमें धोखाधड़ी होने की संभावना अधिक होती है.