Kidney and liver were transported from Kalyan to Parel using Mumbai Local Train
Photo: Twitter

    मुंबई: मुंबई (Mumbai) की लाइफलाइन (Lifeline) कही जाने वाली मुंबई लोकल ट्रेन (Mumbai Local Train) अब इंसानों की ज़िंदगी बचाने के लिए इस्तेमाल की जा रही है। मुंबई लोकल ट्रेन के ज़रिए एक खास ग्रीन कॉरिडोर (Green Corridor) बनाकर कल्याण (Kalyan) से परेल (Parel) इलाके के एक अस्पताल (Hospital) तक ह्यूमन ऑर्गन (Human Organ) पहुंचाया गया। करीब 50 किलोमाटर से अधिकार का सफर महज़ 67 मिनट में तय किया गया। 

    दरअसल, सेंट्रल रेलवे मुंबई डिवीजन ने गुरुवार को कल्याण के फोर्टिस अस्पताल से एक 34 वर्षीय ब्रेन डेड मरीज द्वारा दान किए गए लीवर और किडनी को परेल के ग्लोबल अस्पताल में सफलतापूर्वक पहुंचाया। रेलवे अधिकारियों ने कहा कि, मानव अंगों को गुरुवार को सुरक्षित रूप से अस्पताल तक पहुंचाया गया।

    अधिकारियों ने कहा कि, रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के जवानों, कल्याण और दादर रेलवे स्टेशनों के स्टेशन मास्टरों और अस्पतालों के वाणिज्यिक कर्मचारियों और डॉक्टरों ने इस काम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 

    मध्य रेलवे ने ट्वीट करते हुआ कहा, “टीम सीआर के अधिकारियों और कर्मचारियों ने एक ब्रेन डेड डोनर के लीवर और किडनी को परिवहन के सबसे तेज और सुरक्षित तरीके से परिवहन के लिए समन्वित किया, मुंबई लोकल ट्रेन ‘लाइफलाइन ऑफ मुंबई’ के ज़रिए कल्याण के अस्पताल से परेल के अस्पताल तक ट्रांसप्लांट के लिए पहुंचाया।”