CM Uddhav Thackrey

    मुंबई : मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Chief Minister Uddhav Thackeray) ने कहा है कि राज्य में जो ट्रांसपोर्टर (Transporters) कोविड (Covid) के कारण आर्थिक संकट (Economic Crisis) का सामना कर रहे हैं, उनके मामले में तत्काल उचित समाधान निकाला जाएगा। मुख्यमंत्री ने सोमवार को सहयाद्री गेस्ट हाउस में महाराष्ट्र राज्य ट्रक, टेंपो, टैंकर और बस परिवहन महासंघ के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ बैठक की। इस मौके पर एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार, उपमुख्यमंत्री अजीत पवार, परिवहन मंत्री अनिल परब, गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटिल, पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे समेत कई अधिकारी मौजूद थे। 

    मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि शहरों में बसों और ट्रकों के लिए पर्याप्त पार्किंग की आवश्यकता के बारे में शहरी विकास विभाग को अवगत कराया जाएगा और जगह की योजना बनाई जाएगी। उन्होंने विभिन्न पार्किंग स्थल और चेक पोस्ट के पास ट्रामा केयर सेंटर बनाने के भी निर्देश दिए हैं।

    आर्थिक संकट से उबरने में मदद देने की मांग 

    इस मीटिंग में ट्रांसपोर्ट कारोबार से जुड़े प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री ठाकरे से कहा कि कोविड के कारण उन्हें भारी आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में इससे उबरने के लिए वार्षिक मोटर वाहन कर में छूट, व्यापार कर में छूट, स्कूलों और धार्मिक स्थलों पर ले जाने वाले वाहनों पर मोटर कर में पूरी छूट, राज्य भर में वाहनों और बसों के लिए पार्किंग की जगह का प्रावधान, श्रमिकों को ले जाने वाली वातानुकूलित बसों पर कर में कमी, भारी वाहनों के राज्य के प्रमुख शहरों में 10 से 16 घंटे के प्रवेश प्रतिबंध को हटाने, लंबित यातायात मामलों को निरस्त करने व सार्वजनिक सेवा वाहनों का निरीक्षण करने के लिए पुलिस शक्तियों में कमी करने की मांग की। मुख्यमंत्री ने वित्त एवं परिवहन और पुलिस विभाग को इन मांगों का उचित समाधान निकालने के निर्देश दिए हैं। इस बैठक में परिवहन महासंघ के अध्यक्ष प्रसन्न पटवर्धन, उपाध्यक्ष महेंद्र लूले और महासचिव दयानंद नाटेकर मौजूद थे।