Sangli milk scandal: Sunil Kedar's meeting with farmer leaders begins

    नागपुर. पशु संवर्धन मंत्री सुनील केदार ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने हमेशा किसान विरोधी नीति ही बनाई है. किसान विरोधी 3 कानूनों के विरोध में देश के किसान पिछले 10 महीने से दिल्ली दरबार में आंदोलन कर रहे हैं लेकिन उनकी ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा. लगभग 600 किसानों ने अपने प्राणों की आहुति आंदोलन के दौरान दी है लेकिन केन्द्र सरकार ने उनके आंदोलन की दखल तक नहीं ली.

    उन्होंने कहा कि इसलिए इस किसान की विरोधी सरकार को अपने वोट से सबक सिखाएं. केदार जिला परिषद उप चुनाव के संदर्भ में केवलद सर्कल में आयोजित प्रचार सभा में बोल रहे थे. उन्होंने केलवद, नांदागोमुख, उमरी, सालई, मालेगांव, सावली, जटामखोरा, बिडगांव का दौरा भी किया. 

    OBC वर्ग की आंखों में धूल झोंक रही

    केदार ने आरोप लगाया कि ओबीसी सीटों पर ही चुनाव हो रहा है. इसकी जिम्मेदार भाजपा है. भाजपा सरकार ओबीसी वर्ग की आंखों में धूल झोंक रही है. जानबूझकर भाजपा ने ओबीसी आरक्षण रद्द किया. उन्होंने कहा कि जिला परिषद में सत्तासीन कांग्रेस ने कोरोना काल में अविस्मरणीय कार्य किया है.

    कोरोना काल में जिला परिषद ने स्वास्थ्य व्यवस्था का नियोजन किया और महामारी को हराया. संपूर्ण जिले में अनेक विकास कार्य किए गए. अनेक प्रगति पर हैं. सावनेर के विकास के लिए मैं कटिबद्ध हूं. इस दौरान जिप के पूर्व उपाध्यक्ष मनोहर कुंभारे, सभापति तापेश्वर वैद्य, पंचायत समिति सभापति अरुणा शिंदे सहित बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे.