Nashik Municipal Corporation suffered a setback of 150 crores in the first quarter, the councilors may have to face problems

    नाशिक. नाशिक महानगरपालिका चुनाव (Nashik Municipal Elections) के लिए नए परिसीमन (New Delimitation) को लेकर वर्तमान 122 नगरसेवक (Corporator) चिंता में डूब गए है कि कौन सा प्रभाग कहां जुड़ेगा, इस पर ही राजनीतिक गणित तय होगा। आगामी फरवरी माह में नाशिक महानगरपालिका चुनाव 3 सदस्यीय प्रभाग रचना के अनुसार कराने के निर्णय पर 22 सितंबर को मुहर लगी। इसके अनुसार प्रभाग का प्रारूप बनाने के आदेश महानगरपालिका को मिले। यह कार्य बुधवार से शुरू है। आयोग ने राज्य के कुल 21 मनपा को प्रभाग रचना तैयार करने के आदेश दिए, जिसमें नाशिक शहर की आबादी को ध्यान में रखकर नई प्रभाग रचना करने की बात कही गई है। इसके लिए अनुभवी अधिकारियों की समिति बनाने की सूचना की गई है। 

    यह रचना करते समय प्रभाग की आबादी 10% से कम अथवा अधिक होने पर कोई समस्या नहीं होगी। प्रभाग की बस्तियों का विभाजन नहीं होगी? इसका ध्यान रखना पड़ेगा। प्रभाग रचना करते समय उत्तर से ईशान्य की ओर अर्थात उत्तर-पूर्व इस प्रकार से होगी। इसके बाद पूर्व से पश्चिम की ओर रचना करते हुए इसका समापन दक्षिण दिशा में होगा। इस पेचिदा रचना में किसका परिसर किसमें जुड़ता है, इस पर पूरा राजनीतिक समीकरण तय होगा। कई नगरसेवक पहले से ही अपने भगवान के शरण में पहुंच गए हैं। आस-पास के कुछ कार्यों पर नजरें जमाई है, लेकिन अगर ऐन मौके पर उनका परिसर अन्य विभाग में जुड़ा तो उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ेगी, इसको लेकर वह चिंतित नजर आ रहे हैं। इस प्रभागों को रचना के अनुसार क्रमांक दिए जाएंगे। संभावना है कि भौगोलिक संलग्नता नहीं टूटेगी।

    आबादी के 2807 प्रगणक गट तैयार

    मनपा की प्रभाग रचना 2011 की जनगणना के आधार पर होगी। इसके लिए 14 लाख 90 हजार 53 आबादी है। इस आबादी के 2807 प्रगणक गट तैयार किए गए हैं। इसमें से लगभग 50 से 60 प्रगणक गट एकत्रित कर उनका एक-एक प्रभाग तैयार किया जाएगा। इसके माध्यम से 41 प्रभाग अस्तित्व में आएंगे। इसमें 40 प्रभाग में 3 और एक प्रभाग में 2 सदस्यीय रचना होगी।

    मंथन कर रहीं राजनीतिक पार्टियां

    महानगरपालिका चुनाव को लेकर सभी प्रमुख राजनीतिक दल अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए मंथन में जुट गई हैं। साथ ही निर्दल के तौर पर मैदान में उतरने वाले प्रत्याशी भी अपने आप को किसी से कम नहीं समझ रहे हैं। इन सभी को सिर्फ नए प्रभाग का इंतजार है। जैसे ही आयोग द्वारा इसकी घोषणा की जाएगी उसके बाद से ही प्रत्याशी को लेकर पार्टियां एक-एक कर घोषणा करना शुरू कर देंगी। इसमें भी कौन प्रत्याशी दूसरे दल के प्रत्याशी से मजबूत हो और जीताऊ हो इसका भी खास ध्यान रखा जाएगा। इतना ही नहीं कभी-कभी तो प्रमुख पार्टियां अपनी विरोधी पार्टियों के प्रत्याशी की घोषणा के बाद ही अपना पत्ता खोलतीं हैं।

    फिर से सत्ता में आने को बेताब बीजेपी

    भारतीय जनता पार्टी वर्तमान में नाशिक महानगरपालिका में सत्तासीन है। आने वाले चुनाव में उसे पुन: सत्ता मिले इसके लिए प्रत्याशियों की प्रोफाइल, नगरसेवकों के कार्य और क्षेत्र में कराए गए विकास कार्यों को लेकर मंथन किया जा रहा है। पार्टी के जिलाध्यक्ष, शहराध्यक्ष औप अन्य प्रमुख कार्यकर्ता भी फिर से सत्ता हासिल करने के लिए एड़ी चोटी लगा देंगे, इसके लिए वह कद्दावर प्रत्याशी को ही उतारेंगे। पार्टी में कहीं पर विवाद न हो इसके लिए फूंक-फूंककर कदम रखे जा रहे हैं।

    नाशिक महानगरपालिका की वर्तमान सीटें

    • भाजपा 64
    • शिवसेना 34
    • कांग्रेस 6
    • राष्ट्रवादी कांग्रेस 6
    • मनसे 5
    • अन्य 3

    इस प्रकार होगी नई प्रभाग रचना

    • 29 प्रभाग 4 सदस्यीय
    • 2 प्रभाग 3 सदस्यीय