Second FIR registered against former Mumbai Police Commissioner Parambir Singh, alleging demand of Rs 2 crore

    नाशिक. वसूली मामले में महाराष्ट्र (Maharashtra) के अलग-अलग पुलिस थानों में शिकायत दर्ज होने के बाद लापता परमबीर सिंह (Parambir Singh) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। नाशिक जिले के सिन्नर के पास फर्जी कागजात के आधार पर करोड़ों की ज़मीन खरीदने के मामले में मुंबई पुलिस (Mumbai Police) ने परमबीर सिंह के करीबी संजय पुनुमिया को हिरासत में लिया है। 

    संजय पुनुमिया के खिलाफ अग्रवाल नाम के व्यक्ति ने सिन्नर पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है।  नाशिक पुलिस की ओर से केस की जांच शुरू है।  पुलिस यह जांच कर रही है कि कहीं परमबीर सिंह ने पुनुमिया पिता-पुत्र के नाम पर तो संपत्ति नहीं खरीदी है? परमबीर सिंह मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर रह चुके हैं। नाशिक जिले के सिन्नर तहसील के समृद्धि महामार्ग के पास पुनुमिया द्वारा लैंड डील किए जाने का मामला सामने आया है। 

    शिकायत के मुताबिक धामणगाव, मीरगाव पाथरे के पास यह ज़मीन है। यह डील करते हुए पुनुमिया ने खुद को एक किसान दिखाया है।  इसके लिए उन्होंने फर्जी कागजात पेश किए हैं।  इस बारे में शिकायत किए जाने के बाद पुनुमिया पर केस दर्ज किया गया है।  मुंबई पुलिस ने उन्हें हिरासत में लिया है।  नाशिक जिले की सिन्नर पुलिस अब इस मामले की जांच करेगी।  इसलिए पुनुमिया का केस नाशिक पुलिस को ट्रांसफर किया गया है।  नाशिक जिले के ग्रामीण भाग के पुलिस अधीक्षक सचिन पाटिल ने इस केस की जांच शुरू कर दी है।   पुनुमिया ने फर्जी कागजात किसकी मदद से तैयार करवाए? परमबीर सिंह का इस डील से क्या संबंध है? इन सब बातों की जांच की जाएगी। 

    पुनुमिया पिता-पुत्र के नाम पर परमबीर ने खरीदी करोड़ो की प्रॉपर्टी ?

    संजय पुनुमिया फिलहाल एक फिरौती के मामले में मुंबई पुलिस की कस्टडी में हैं।  कस्टडी की अवधि खत्म होते ही उन्हें नाशिक पुलिस अपनी कस्टडी में ले लेगी।  संजय पुनुमिया विवादास्पद रहे पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्ननर परमबीर सिंह के करीबी माने जाते हैं।  पुनुमिया मुंबई से सटे ठाणे जिले के रहने वाले हैं।  पुनुमिया ने नाशिक के सिन्नर तहसील में  लैंड डील अपने बेटे सनी के नाम पर की है।  लेकिन चर्चा यह है कि पुनुमिया पिता-पुत्र के नाम का इस्तेमाल करते हुए दरअसल परमबीर सिंह ने यह जमीन खरीदी है।  पुलिस जांच में एक बड़ा भंडाफोड़ होने की आशंका जताई जा रही है। 

    परमबीर देश से फरार हो गए हैं

    पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ परमबीर सिंह ने 100 करोड़ की वसूली के लिए पुलिस अधिकारियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया था।  यह आरोप लगाते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक लेटर लिखा था। इसके बाद महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया था।  अनिल देशमुख को इस मामले में मंत्रिपद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद प्रसिद्ध उद्योगपति मुकेश अंबानी के मुंबई स्थित एंटीलिया निवास के बाहर विस्फोटक पाए जाने के मामले में परमबीर सिंह को मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से हटा दिया गया था।  उनका ट्रांसफर कर दिया गया था।  इसके बाद परमबीर सिंह पर भी फिरौती के कई आरोप लगे।  केस दर्ज हुए।  तब से वे गायब हैं।  जांच एजेंसियों को शक है कि परमबीर देश से फरार हो गए हैं।