Representative Pic
Representative Pic

लाकडाउन से खाने-पीने का संकट

हजारों रुपए का थमाया बिल

एरंडोल. कोरोना वायरस संक्रमण के कारण सरकार ने आपातकालीन इमरजेंसी के रूप में पूरे देश में कारोबार आदि प्रतिष्ठानों को बंद करा दिया और लॉकडाउन लगा दिया था. जिसके चलते करोड़ों व्यक्ति बेरोजगार हो गए. आम आदमी की रोजी रोटी बंद होने के कारण उसके खाने-पीने की समस्या हो गई है, ऐसे में बिजली विभाग ने हजारों रुपये का बिजली बिल थमा दिया है. लॉक डाउन के कारण लोगों के पास पैसे की कमी है तो अन्य लोगों के पास रुपये नहीं है. ऐसी विकट स्थिति में सरकार ने तत्काल तीन महीनों का घरेलू बिजली बिलों को माफ़ करने की मांग महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने ज्ञापन सौंपकर प्रशासन से की है.

लाखों का छिना रोजगार

महाराष्ट्र बिजली वितरण विभाग को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने बिजली बिल माफ़ी का ज्ञापन सौंपते हुए कहा कि गत 4 महीनों के करीब वैश्विक महामारी कोरोना के कारण देश सहित ज़िले शहर में लॉक डाउन लगा हुआ है. लाखों-करोड़ों लोगों का रोजगार तालाबंदी के कारण छिन गया है. गत चार महीनों का बिजली बिल का भुगतान करने की क्षमता नागरिकों में नहीं है. जनहित को देखते हुए तत्काल महाराष्ट्र बिजली वितरण विभाग को बिजली बिलों को माफ करने की गुहार एरंडोल नवनिर्माण सेना तहसील अध्यक्ष विशाल सोनार, शहराध्यक्ष गोकुल वाल्डे, कमलाबाई माली, यशोदाबाई अहिरे, सुबधाबाई माली, लताबाई भांडारकर, मंगलाबाई शिंपी, गणेश जाधव ने किया है.