Maharashtra ACB's action against corruption, case registered against sub-divisional magistrate in bribery case, revenue officer arrested
File

    पुणे. पुलिस थाने में दर्ज धोखाधड़ी (Fraud) के एक मामले में जमानत (Bail) दिलाने में मदद के लिए 5 लाख रुपए की रिश्वत (Bribe) की मांग किए जाने का मामला सामने आया है। इसमें से 1 लाख रुपए की रिश्वत लेते पुणे पुलिस (Pune Police) के एक सहायक पुलिस निरीक्षक (API) को एंटी करप्शन ब्यूरो (ACB) पुणे की टीम ने रंगेहाथ पकड़ लिया है। इस कार्रवाई से फिर एक बार पुलिस महकमे में खलबली मच गई है।

    गिरफ्तार किए गए सहायक पुलिस निरीक्षक का नाम राहूल अशोक पाटील (33) है। उसके साथ संतोष भाऊसाहेब खांदवे (45, निवासी लोहेगांव, पुणे) नामक एक निजी व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है। उनके खिलाफ एक 22 वर्षीय युवक ने शिकायत दर्ज कराई है। उसके पिता के खिलाफ विमानतल पुलिस थाने में धोखाधड़ी के मामले दर्ज है। राहुल पाटील की तैनाती इसी पुलिस थाने में है। 

    5 लाख रुपए की मांगी थी रिश्वत

    राहुल पाटिल ने शिकायतकर्ता से उसके पिता को जमानत दिलाने में मदद करने के लिए संतोष खांदवे के साथ मिलकर 5 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। फिर बाद में संतोष खांदवे ने शिकायतकर्ता से 3 लाख में समझौता किया। इसमें से एक लाख रुपये देने का फैसला किया गया। इस बीच शिकायतकर्ता ने एसीबी से शिकायत की। इसकी पुष्टि करने के बाद एसीबी की टीम ने जाल बिछाया। सहायक पुलिस निरीक्षक राहुल पाटील ने रिश्वत की रकम संतोष खांदवे के पास देने को कहा। इसके बाद एसीबी की टीम ने खांदवे को रंगेहाथ पकड़ लिया। उसने स्वीकार किया कि ये पैसे उसने राहुल पाटिल की ओर से स्वीकारे हैं। इसके अनुसार पाटिल को भी गिरफ्तार किया गया।