crime

    पिंपरी. कुछ दिनों पहले आरपीआई (आठवले गुट) के पिंपरी चिंचवड़ शहराध्यक्ष (Pimpri Chinchwad City) पर हमला किये जाने की घटना घटी थी। यह हमला एक मनोरोगी युवक (Psychopathic Youth) द्वारा किया गया था, जिसे कुछ लोग पगला कहकर चिढ़ा रहे थे। उसके हमले के बाद हुए जवाबी हमले में उस मनोरोगी युवक की चार दिन बाद मौत हो गई। अब इस घटना को लेकर पिंपरी पुलिस (Pimpri Police) ने आरपीआई के शहराध्यक्ष समेत 7 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है, उनमें से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

    मनोज राजू कसबे (25) ऐसा मृतक का नाम है। इस मामले में उसकी मां पुष्पा राजू कसबे (50) ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। इसके अनुसार पुलिस ने काल्या उर्फ सचिन निकालजे (40), शौकत समीर शेख (32) को गिरफ्तार कर उनके साथ आरपीआई के शहराध्यक्ष चिम्या उर्फ सुरेश निकालजे, मनोज अर्जुन जगताप, आनंद कदम, संतोष कदम, भूषण डुलगल और उनके अन्य साथियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। 

    पुलिस के अनुसार, आरोपी हमेशा मनोज को पगला पगला कहकर चिढ़ाते थे। वह उनसे कहता कि वह पागल नहीं है, लेकिन इसके बावजूद वे उसे चिढ़ाते रहते थे। 5 अगस्त की दोपहर भी उसे पगला कहकर चिढ़ाया गया। इसके गुस्से में आकर मनोज ने सुरेश निकालजे और अन्य लोगों पर डंडे से हमला कर दिया। जवाब में कुछ लोगों ने उसके साथ भी मारपीट की। दोनों तरफ के घायलों को अस्पताल ले जाया गया जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें डिस्चार्ज दे दिया गया। तब किसी ने किसी के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई। हालांकि घटना के चार दिन बाद मनोज की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि उसकी मानसिक स्थिति भी ठीक नहीं है। इस बारे में हत्या का मामला दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।