Water Bottle
Representational Pic

    ठाणे : गर्मी बढ़ती ही जा रही है, शहर में वर्तमान तापमान (Temperature) 40 के पार चल रहा हैं। पानी की बोतल (Water Bottle) बेंचने का व्यवसाय (Business) इन गर्मियों (Summer) में तेजी से चल रहा हैं। लोगों की प्यास (Thirst) का फायदा पानी की 5 रुपए की बोतल का 15 से 25 रूपए ले लेते हैं। ऐसे लोगों की शिकायत करने और बिना जांच पड़ताल (Investigation) के पानी की बोतल न खरीदने का आव्हान एफडीए (FDA) ने किया है। 

    गौरतलब है कि पानी की बोतलें अक्सर राज्य परिवहन स्टेशनों (State Transportation Stations), रेलवे स्टेशनों (Railway Stations), स्कूल (Schools) और कॉलेज (Colleges) परिसरों या बाजारों में बेची जाती हैं। समय बचाने की हड़बड़ी में प्यास से परेशान व्यक्ति 5 रुपए की पानी बोतल के लिए 15 से 20 रुपए दुकानदार को दे देता है। वहीं आम नागरिक पानी की गुणवत्ता की जांच किए बिना ही पी लेता है। एफडीए का कहना है कि बिना बीआईएस या एफएसआई लेबल देखे बिना पानी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इसलिए पानी की गुणवत्ता की जांच करना जरूरी है। वहीं पानी की बोतल पर लिखी दर ही दुकानदार को अदा करना चाहिए। यदि दुकानदार नहीं मानें तो उसकी शिकायत एफडीए में करें एफडीए ऐसे दुकानदारों पर कार्रवाई करेगी। 

    एफडीए संयुक्त कमिश्नर संतोष देशमुख ने बताया कि आम नगरिकों के स्वास्थ के लिए एफडीए निरंतर कार्रवाई करता रहता हैं। बोतलबंद पानी बीआईएस और एफएसआई रेटिंग के साथ-साथ सीलबंद पैकिंग की जांच के बाद ही लेना चाहिए। यदि कोई भी दुकानदार बोतल में लिखी दर से अधिक पैसे मांगता है तो दुकानदार की शिकायत 1800222365 इस नंबर पर कर सकते हैं। 

    कैसे पहचाने अच्छा पानी?

    पानी की बोतलबंद बोतल पर भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) और खाद्य सुरक्षा प्राधिकरण (एफएसआई) का नंबर होना चाहिए। वहीं बोतल खरीदते वक्त बोतल पर खाद्य सुरक्षा मानकों और खाद्य सुरक्षा मानकों के साथ-साथ बीआईएस या एफएसआई लेबल की जांच भी कर यह पता लगाया जा सकता हैं, कि पानी पीने योग्य है या नहीं।