Thane Municipal Corporation

    ठाणे : वर्तमान में अक्टूबर हीट के दौरान कलवा, मुंब्रा, दिवा जल संकट से जूझ रहा है। वहीं पीने का पानी का उपयोग भवन निर्माण और विभिन्न जगहों पर चल रहे कंस्ट्रक्शन साईट (Construction Site) पर किए जाने का मामला प्रकाश आया है। जिस पर तत्काल कार्रवाई कर पानी कनेक्शन को काटने (Water Connection) का निर्देश सांसद श्रीकांत शिंदे (MP Shrikant Shinde) ने ठाणे महानगरपालिका (Thane Municipal Corporation) के अधिकारियों को दिया। 

    सोमवार को ठाणे महानगरपालिका मुख्यालय में स्थित स्व. नरेंद्र बल्लाल सभागृह में शिंदे की मौजूदगी में समीक्षा बैठक हुई। बैठक में महापौर नरेश म्हस्के, महानगरपालिका कमिश्नर डॉ. विपिन शर्मा के साथ कलवा, मुंब्रा और दिवा नगरसेवक, महानगरपालिका के अधिकारी और एमआईडीसी के जलापूर्ति विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।

    इस मौके पर शिवसेना नगरसेविका अनीता गौरी ने मुद्दा उपस्थित करते हुए कहा कि जहां पानी की कमी का खामियाजा शहरवासियों को भुगतना पड़ रहा है, वहीं नए शुरू हुए आवास परिसरों का निर्माण करते समय टैंकर के पानी के बजाय पीने के पानी का उपयोग किए जाने का खुलासा किया। साथ ही उन्होंने कंस्ट्रक्शन की साईट पर इस प्रकार के पानी की आपूर्ति बंद करने और इन्हें टैंकर द्वारा पानी की आपूर्ति करने की मांग भी की।

    कलवा मुंब्रा, दिवा ही नहीं बल्कि पूरा ठाणेकर झेल रहा है पानी की किल्लत : कमिश्नर 

    इस दौरान बैठक में शर्मा ने माना कि पानी की समस्या कलवा, मुंब्रा या दिवा में ही पानी किल्लत नहीं है, बल्कि पूरे ठाणे शहर में अक्टूबर हीट के कारण पानी की समस्या का सामना नागरिकों को करना पड़ रहा है। साथ ही डॉ. शर्मा ने इसी के तहत जलापूर्ति विभाग को ऐसे निर्माणों की जानकारी लेने का निर्देश दिया और संबंधित विभाग को तत्काल सूची पेश करने को कहा है। इसी मुद्दे पर महापौर म्हस्के ने भी ऐसे निर्माणों की संख्या की जानकारी प्राप्त करने, स्थानीय अधिकारियों के कार्यों के बारे में सूचित करने, नगरपालिका के पानी का उपयोग करने वालों की सूची प्रस्तुत करने और उसके अनुसार कार्रवाई करने का भी आदेश दिया।

     इस संदर्भ में सांसद शिंदे ने निर्देश दिया कि नगर पालिका के पानी का उपयोग करने वालों के पानी की किल्लत को देखते हुए तत्काल कम किया जाए और साथ ही नगर पालिका की अनुमति के बिना पानी जमा करने वालों का भी पानी रोका जाए। नगर अभियंता अर्जुन अहिरे ने आश्वासन दिया कि तदनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।