Private hospitals in Delhi demand health workers to increase the number of covid-19 beds
File Photo

    वर्धा. राज्य में दिनोंदिन कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है़ ऐसे में सरकार ने नए प्रतिबंधों के साथ सभी जिला प्रशासन को तीसरी लहर से निपटने तैयार रहने के निर्देश दिए़  इसी तर्ज पर जिला प्रशासन ने कोविड केयर सेंटर की तैयारियां शुरू कर दी है़  अब तक जिले की 24 पीएचसी में प्रत्येकी 10 बेड इस प्रकार कुल 240 तथा सालोड हीरापुर स्थित महात्मा गांधी आयुर्वेदिक कॉलेज में 244 बेड कुल 484 बेड के कोविड केयर सेंटर तैयार रखे गए है़ं  जिले में 1 जनवरी से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है़ पिछले दो दिनों में करीब 35 नए कोरोना संक्रमित मिलने से सर्वत्र खलबली मच गई है़ राज्य में बढ़ते मरीजों के चलते सरकार ने भी सख्त प्रतिबंध लगाने शुरू कर दिए है़.

    प्रतिबंधों पर कड़ाई से अमल के आदेश

    जिलाधिकारी प्रेरणा देशभ्रतार ने भी नए आदेश जारी करते हुए प्रतिबंधों पर कड़ाई से अमल करने को कहा है़  जिले में निर्मित आक्सीजन प्लांट का जायजा लिया गया़  जिला अस्पताल सहित ग्रामीण अस्पताल, उपजिला अस्पतालों में बेड की सुविधा सहित अन्य सेवाएं तैयार रखने के निर्देश दिये गए है़ं  मार्केट व सार्वजनिक जगहों पर भीड़ न हो, कार्यक्रमों में कोरोना नियमों का कड़ाई से पालन करने पर भी दिशानिर्देश जारी किये गए़  पहली व दूसरी लहर में बड़ी मात्रा में जनहानि घटी थी़  करीब 1327 लोगों ने जिले में अपनी जान गंवाई.  

    जनहानि टालने हरसंभव प्रयास

    अब तीसरी लहर में जनहानि टालने के प्रशासन हरसंभव प्रयास कर रहा है़  जिला, उपजिला व ग्रामीण अस्पताल सहित ग्रामीण स्तर पर कोविड केयर सेंटर तैयार करने की दृष्टि से कदम उठाये जा रहे़  जिले में कुल 28 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है़ं  ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना पीड़ितों को वहीं पर राहत मिले, इसलिए जिला प्रशासन ने करीब 24 पीएचसी में प्रत्येकी 10 बेड का कोविड केयर सेंटर तैयार कर लिया है़  इसके अलावा सावंगी अस्पताल के अंतर्गत आनेवाले सालोड हीरापुर स्थित महात्मा गांधी आयुर्वेदिक कालेज में 244 बेड का कोविड केयर सेंटर उपलब्ध कराया गया़  यहां पर अस्पताल का स्टाफ पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहेगा़  इसके अलावा आगामी दिनों में जरूरत पड़ने पर पुराने कोविड केयर सेंटर फिर एक बार कार्यान्वित किये जाने की संभावना है़  तीसरी लहर से बचने का आह्वान स्वास्थ्य प्रशासन ने किया है़ 

    नोडल अधिकारी की नियुक्ति

    बढ़ते कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए उपजिला अस्पताल हिंगनघाट में सादे बेड, आईसीयू बेड, वेंटिलेटर, दवाई व आक्सीजन प्रबंधन के लिए देवली तहसील के नायब तहसीलदार शकुंतला पाराजे की नोडल अधिकारी के रूप में नियुक्ति की गई़  जबकि जिले में मरीजों की संख्या बढ़ने पर दवाई व स्वास्थ्य विषयक सामग्री एवं सुचारू प्रबंधन के लिए उपजिलाधिकारी प्रवीण महिरे की नोडल अधिकारी तथा तहसीलदार माधुरी टेकाडे की सहायक नोडल अधिकारी के रूप में जिलाधिकारी प्रेरणा देशभ्रतार ने नियुक्ति की है. 

    43 एक्टिव कोरोना संक्रमित

    जिले में 1 जनवरी से कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है़ पिछले चौबीस घंटे में करीब 531 नागरिकों की कोरोना टेस्ट की गई़  इसमें 21 नए संक्रमित मिले है़ं परिणामवश अब एक्टिव मरीजों की संख्या 43 पर पहुंच गई है़ बड़ी संख्या में नए संक्रमित मिलने के कारण जिले का स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है.