delta-plus
File Photo

    वर्धा. कोरोना के डेल्टा प्लस वेरिएंट ने स्वास्थ्य प्रशासन की नींद उड़ा दी है़  आसपड़ोस के सभी जिलों में डेल्टा प्लस के मरीज पाये गए है़ं  परिणामवश स्थानीय स्वास्थ्य विभाग अधिक अलर्ट हो गया है. स्थिति को गंभीरता से लेते हुए फिलहाल इक्का दुक्का मिल रहे नए संक्रमितों के नमूने स्वास्थ्य विभाग पुणे की लैब में भेज रहे है़ं  फिलहाल जिले में डेल्टा प्लस वेरिएंट का एक भी मरीज नहीं बताया जा रहा.

    जिले में कोरोना की पहली व दूसरी लहर ने कोहराम मचा दिया़  इस महामारी में अब तक जिले के 1,325 लोगों की जान ली है़  पहली लहर से अधिक जीवितहानि दूसरी लहर में हुई़  अनेक परिवार इस महामारी के भेंट चढ़ गए़  कोरोना के इस संकट के साथ-साथ ब्लैक फंगस, डेंगू सदृष्य बीमारी ने भी स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी थी़  इन सभी संकटों से निपटने के बाद विगत दो माह से जिले में कोरोना के मरीजों की संख्या रफ्तार से कम हुई है़  वर्तमान में मात्र 3 एक्टिव पाजिटिव है़  परंतु आज भी जिले का संकट टला नहीं है.  

    फिलहाल जिले में नहीं मिला मरीज 

    कारोना का नया डेल्टा प्लस वेरिएंट जिले में किसी भी समय प्रवेश कर सकता है़  आसपड़ोस के सभी जिलों में यह वेरिएंट पाया गया है़  परिणामवश स्थानीय स्वास्थ्य विभाग अधिक अलर्ट हो गया है़ जिलाधिकारी के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग फूंक फूंककर कदम रख रहा है़  जो भी नया संक्रमित मिल रहा, उसके सैम्पल जांच के लिए पुणे की लैब में भेजे जा रहे हैं. फिलहाल जिले में डेल्टा प्लस का एक भी मरीज नहीं होने की जानकारी स्वास्थ्य विभाग ने दी. 

    विभाग कर रहा कान्ट्रैक्ट ट्रेसिंग

    उल्लेखनिय यह कि डेल्टा प्लस वेरिएंट को देखते हुए स्थानीय स्वास्थ्य विभाग किसी भी प्रकार की जोखिम उठाने के लिए तैयार नहीं है़  फिलहाल जिले में इक्का दुक्का संक्रमित मिल रहे हैं. ऐसे में नए संक्रमितों के कान्ट्रैक्ट ट्रेस करने पर जोर दिया जा रहा है़  नागरिकों से त्रिसूत्री का पालन करने के साथ अपना टीकाकरण करवाने का आह्वान किया जा रहा है.