Yavatmal ZP

    • जिले में जीआयएस प्लानिंग की हुई शुरुआत

    यवतमाल. जिले की ग्रामपंचायतों के तहत रोजगार गैरंटी के होनेवाले व्यक्तीगत और सार्वजनिक विकासकामों के लिए 2024 तक होनेवाले कामों के लिए प्रारुप बनाने का काम जिले में शुरु किया गया है.

    महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गैरंटी योजना महाराष्ट्र के तहत समृध्दी बजट 2022-23 जिले में सिंचाई कुंए, खेती तालाब, मवेशीयों के तबेले, बकरी पालन, शेड, कुक्कुटपालन शेड, व्यक्तीगत शौचालय,शौच खड्डा,रेशम बुआइ्र, वृक्ष्बुआई, फलबागीचे, बांध, आवास, खेत टाके,कम्पोस्ट खाद टंकीयां, कुंआ पुर्नभरन के काम होंगे.इसके लिए जिले की ग्रामपंचायतों कों प्रारुप तैयार करने समेत सरपंच, ग्रामसेवक, रोजगार सेवक और प्रशासनिक यंत्रणा के कम्रचारीयों को शिवार फेरी कर सर्वे नमुना और सार्वजनिक लाभ योजना के फार्म भरकर प्रशासनिक स्तर पर जानकारी उपलब्ध करने की सुचना दी गयी है.

    जिससे सभी ग्रामपंचायतों में रोहयो के कामों में व्यक्तीगत और सार्वजनिक कामों को करने के लिए 2021-22,23-24 तक कृती प्रारुप जीआयएस प्लानिंग तैयार करने के काम शुरु किए गए है,किसानों, सरपंच, सदस्य, ग्रामसेवक, ग्राम रोजगार सेवक से चर्चा कर कामों का प्लान बनाने, तय फारमेट में ग्रामसेवक और सरपंच की दस्तखत लेकर पंचायत समिती कार्यालयों में जमा करने की सुचना भी दी गयी है.

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक म.गां.राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना के लिए ग्रामपंचायतों के स्तर पर होनेवाले कामों के लिए आगामी 3 दिनों में जानकारी जमा कर अगले 3 दिनों में उसे अपलोड करने के निर्देश जिलापरिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने दिए है. तय समय में रोजगार गैरंटी के कामों के लिए जानकारी उपलब्ध न होने पर एैसी ग्रामपंचायतों की जानकारी निरंक समझी जाएंगी. जिससे ग्रामपंचायतों को काम निबटाने में दिक्कतें आ सकती है.एैसी जानकारी प्रशासनिक स्तर पर दी गयी है.