photo- ani
photo- ani

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के लखनऊ (Lucknow) में वजीर हसनगंज रोड (Wazir Hasanganj Road) पर एक रिहायशी इमारत गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई है। डीजीपी, डीएस चौहान (DS Chauhan) ने बताया कि पांच लोग अभी भी मलबे में फंसे हुए हैं और उन्हें उचित ऑक्सीजन (oxygen) की आपूर्ति की जा रही है। वे एक ही कमरे में हैं। हम दो लोगों के संपर्क में हैं। अभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। उचित जांच की जाएगी। 

    लखनऊ के वजीर हसनगंज रोड पर कल एक रिहायशी इमारत गिरने से अब तक 14 लोगों को बचाया जा चुका है। पांच लोग मलबे में फंसे हैं। अबतक तीन लोगों की मौत की खबर है। मामले की जांच चल रही है। इस मामले में अबतक कोई गिफ्तारी नहीं हुई है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने जिला प्रशासन को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के निर्देश दिए हैं।

    इस मामले में लखनऊ के डीजीपी डी.एस. चौहान ने कहा, “जिस समय इमारत गिरी उस समय 8 परिवार इमारत के अंदर थे। 5 लोग सकुशल निकाल लिए हैं। वे सदमे में थे और अस्पताल भेजा गया। स्थिति एक प्राकृतिक आपदा की ओर इशारा करती है।  रेस्क्यू ऑपरेशन युद्ध स्तर पर जारी है। सीएम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं।” उन्होंने कहा कि लखनऊ में 5.5 रिक्टर स्केल का भूकंप महसूस किया गया और इमारत नदी के किनारे है। यहां SDRF की 8 और NDRF की 4 टीमें मौजूद हैं।