उरण के 1650 मछुआरों को 22 करोड़ की सहायता निधि

नवी मुंबई. नावा शेवा सीलिंक प्रोजेक्ट में बाधित हो रहे 1650 मछुआरों को राज्य सरकार ने नुकसान भरपाई अदा कर दी है. निर्माणाधीन नावा सीवड़ी समुद्र सेतू के  कारण उरण क्षेत्र के 1650 से अधिक मछुआरों को रोजी रोटी खत्म हो गयी है.

पूर्व सांसद रामशेठ ठाकुर, विधायक प्रशांत ठाकुर एवं उरण के विधायक महेश बालदी ने इन मछुआरों को नुकसान भरपाई देने के लिए लगातार पत्रव्यवहार किया.उनके सतत प्रयत्नों से सरकार ने इन मछुआरों में से 1650 को 22 करोड़ का मुआवजा प्रदान किया है.

मंगलवार को कई मछुआरों में भाजपा नेता रामशेठ ठाकुर से सदिच्छा भेंटकर आभार जताया. इस दौरान कामगार नेता सुरेश पाटिल, जयवंत देशमुख, विशाल कोली, प्रमोद कोली, नंदकुमार कोली, संजीव कोली, एवं राजकिरण कोली उपस्थित थे. रामशेठ ठाकुर ने मछुआरों के लंबित मामलों को शीघ्र निपटाने का भरोसा दिलाया.