आइकिया कंपनी के खिलाफ BJP का मोर्चा

  • स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार की मांग

नवी मुंबई. तुर्भे स्टोर्स हाइवे पर प्रारंभ हो रही होम फर्निशिंग कंपनी आइकिया (IKEA)के खिलाफ BJP ने मोर्चा खोल दिया है। स्थानीय नेताओं ने मंगलवार को तुर्भे स्टोर्स यूनिट में कंपनी प्रबंधन का घेराव किया और स्थानीय लोगों को नौकरी देने में हो रहे पक्षपात पर सवाल उठाया। आइकिया प्रबंधन से मिलने पहुंचे बीजेपी के स्थानीय नेता अनवर शेख, पूर्व नगरसेवक राजेश शिंदे और अमित मेढ़कर ने खुला आरोप लगाया कि आइकिया जानबूझकर तुर्भे के युवाओं को नौकरी नहीं दे रही है।

उन्होंने सत्तारूढ़ दल के नेताओं पर भी हमला बोला। अनवर शेख ने कहा कि आइकिया तुर्भे में खुल रही है, लेकिन वहां कामगारों की भर्ती बाहर के लोगों की हो रही है। शेख ने कहा कि तुर्भे यूनिट में नौकरियों पर स्थानीय लोगों का पहला अधिकार है। वहीं पूर्व नगरसेवक राजू शिंदे और अमित मेढ़कर ने भी कंपनी प्रबंधन की नियत पर सवाल उठाया और कहा कि सत्तारूढ़ दल के नेताओं के इशारे पर आइकिया प्रबंधन सिर्फ चहेते लोगों को ही काम दे रहा है। उन्होंने स्थानीय युवाओं को नौकरी देने की मांग की।

वर्ना नहीं खुलने देंगे कंपनी

बताना जरूरी है कि तुर्भे में आइकिया यूनिट का 18 दिसंबर को शुभारंभ होने वाला है। इसके लिए अब तक 3000 स्किल्ड वर्कर्स की नियुक्ति हो चुकी है। हालांकि बीजेपी नेताओं का कहना है कि इनमें से अधिकांश लोग बाहरी हैं, जबकि स्थानीय युवाओं के एप्लीकेशन को जानबूझकर रिजेक्ट किया गया है, जो अन्याय है। बीजेपी नेताओं ने चेतावनी दी कि कंपनी ने यदि नौकरी देने में वादाखिलाफी की तो वे तीव्र आंदोलन करेंगे। इस दौरान राजू इंगले, अंकुश मेढकर, शीतल इंगले समेत तमाम कार्यकर्ता मौजूद थे।