Vaccination
File Photo

    कल्याण. कोरोना (Corona) के खिलाफ चल रही लड़ाई में जंग जीतने के लिए जल्द से जल्द सभी नागरिकों का टीकाकरण (Vaccination) कराना जरूरी है, लेकिन कोरोना के मामले में केडीएमसी (KDMC) की स्वास्थ्य व्यवस्था पटरी से उतर चुकी है। टीकाकरण अभियान रुक-रुक कर चल रहा है। मनपा टीकाकरण कराने के मामले में निराशाजनक काम कर रही है। टीकाकरण अभियान में सहयोग करने के इच्छुक निजी क्षेत्र के लोगों को मनपा द्वारा निजी टीकाकरण केंद्र के लिए आवश्यक अनुमति नहीं दी जा रही है। ऐसा आरोप पलावा में निजी टीकाकरण केंद्र का शुभारंभ करते समय स्थानीय मनसे विधायक प्रमोद उर्फ राजू पाटिल ने किया है।

    मनसे विधायक राजू पाटिल ने केडीएमसी पर  गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि कल्याण ग्रामीण में मैंने अपने खर्च पर टीकाकरण के लिए आवश्यक चिकित्सीय सहायता और चिकित्सा स्टाफ प्रदान करने की इच्छा दिखाई है, लेकिन केडीएमसी प्रशासन से वैक्सीन की खुराक की इजाजत अभी तक नहीं मिल सकी है। टीकाकरण केंद्र को अभी तक सामान्य अनुमति नहीं दी गई है। इन सभी बातों से तंग आकर उन्होंने निजी क्लीनिकों की मदद से टीकाकरण कराने की अपील की और कुछ क्लीनिकों ने आज से समाज, महासंघ और सभी दलों के संयुक्त प्रयासों से विभिन्न चरणों में टीकाकरण शुरू कर दिया गया है।

    580 लोगों ने लाभ उठाया

    केडीएमसी सीमा में पहला निजी टीकाकरण केंद्र कासाबेला पलावा में बुधवार से शुरू किया गया और पहले ही दिन लगभग 580 लोगों ने इसका लाभ उठाया। आशा करते हैं कि अगले कुछ दिनों में टीकाकरण केंद्र की अनुमति से सभी को कम से कम दूसरी खुराक मुफ्त में मिल जाए। इस निजी टीकाकरण केंद्र के लिए विशेष प्रयासों के लिए मनसे विधायक राजू पाटिल ने कासाबेला फेडरेशन को धन्यवाद देते हुए बधाई का पात्र बताया।