दीवाली के कारण बाजारों की बढ़ी रौनक

उल्हासनगर. कोरोना के कारण शुरू हुए  लॉकडाउन से होली, गुडीपाड़वा, ईद-उल-अज़हा, नवरात्रोत्सव आदि त्योहार प्रभावित हो चुके है. इन त्योहारों में लोग अपने घरों तक सीमित रहें. अनलॉक के बाद पहले दशहरा की खुशियां मनी पर अब कोरोना पर कुछ हद तक नियंत्रण पाए जाने से दीपावली के पर्व को लेकर नागरिको में उत्साह, उमंग का माहौल है. शहर के बाजारों की दुकानों में खरीददारी के इकठ्ठा हो रही भीड़ इसका सबूत है. 

दीपावली का पर्व 12 से शुरू हो रहा है. लॉकडाउन के कारण कॉलेज, स्कूल बंद है.  इसका लाभ भी महिलाएं ले रही है, पहले शनिवार और रविवार को शॉपिंग को अधिकांश लोग निकलते थे, लेकिन अब बच्चों का स्कूल बंद के कारण जब जिसको जाना होता है वह बाजार चला जाता है. वर्तमान समय में बाजार में रेडीमेड कपड़ों, साड़ी सेंटरों, इलेक्ट्रॉनिक्स, किराना, बर्तन, मिठाई, गिफ्ट सेंटरों में  लोग दिखाई दे रही है. वैसे यदि पिछ्ले वर्ष की दिवाली की तुलना की जाए तो उतना जोर नहीं है लेकिन कोरोना के बाद बाजार खुलने से लोगों में खुशी व उत्साह देखने को मिल रहा है. 

कोरोना ने बना दिया था अजनबी 

शहर के हृदय स्थल कहे जाने वाले नेहरू चौक स्थित रमेश कोल्ड्रिंक्स के दिलीप असरानी ने बताया कि 22 मार्च से कोरोना के कारण शहर बंद हो गया था, जिससे मार्केट की रौनक गायब ही गयी थी, कोरोना ने अपने शहर में हमें अजनबी कर दिया था. लोगों से मिलना जुलना मुश्किल था. पर अब सरकार द्वारा चरणबद्ध तरीके से धीरे-धीरे सभी सामान्य कर दिए जाने से लोगों में उत्साह का माहौल है. दिलीप ने आगे कहा कि धंदे से ज्यादा बाजार खुलना और लोगों की आवाजाही हम व्यापारियों के हौसले को बढ़ा रहा है.  मिट्टी के दिये भी अनेक दुकानों में उपलब्ध है, जो दीवाली आने जा अहसास दिलाता है. 

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन दुकानदार करें

अमन शॉपकीपर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक छतलानी ने कहा कि अमन टाकीज रोड पर की दुकानों में दिवाली पर्व के लिए सभी आवश्यक सामान मिलते है. उन्होंने कहा कि किराना स्टोरों में अच्छी ग्राहकी है, अनेक किस्म की आकाश कंदील यहां उपलब्ध है, ड्राईफ्रूट्स, गिफ्ट आयटम भी इस बाजार की रौनक बढ़ा रहे है.  फटाखे भी यहां मिलते है. छतलानी ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन दुकानदार करें ऐसी सलाह दी गई है.