vineet

मेरठ. एक खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) में बीते मंगलवार यानी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस (Republic Day) के अवसर पर एक नेताजी ने झंडारोहण (Flag Hoisting) के दौरान सबको आश्चर्य में डालते हुए ‘हम दो हमारे पांच’ का नारा दिया है। 

क्या थी घटना:

दरअसल मेरठ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत अग्रवाल शारदा (Vineet Agrawal Sharda) कल गणतंत्र दिवस के अवसर पर यह सनसनीखेज बयान दिया कि, “जब तक हम दो हमारे दो का नियम (Family Planning Rule) नहीं बनता तब तक हम दो हमारे पांच का सभी संकल्प लें।” इतना ही नहीं नेताजी ने यह भी कहा कि, “जब तक नियम नहीं बनता तब तक हम दो हमारे दो के सिद्धांत को समाप्त करना चाहिए। उन्होंने सरकारों से अपील की कि या तो ये हो जाए कि उनके भी दो हमारे भी दो या फिर हम दो हमारे पांच का सभी को संकल्प लेना चाहिए।”

क्या कहा विनीत अग्रवाल शारदा ने: 

यह गणमान्य नेता यही नहीं रुके और उन्होंने यह भी कहा कि अब हर एक बच्चे को लोहा खरीदना और चलाना भी सिखाइए। इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि पांच बच्चों में से हर एक को किस काम में लगाया जाए। उनका कहना था कि पढ़ा लिखा बच्चा राजनीति में जाए। एक बच्चे को मान मर्यादा इज़्जत बचाने के लिए लोहा (बन्दूक/कट्टा) खरीदना और लोहा चलाना सिखाइए। एक बच्चे को  सेना में भेजा जाये। तथा एक बच्चे को व्यापार में लगाइए और एक बच्चे को आईएएस- पीसीएस बनाकर भारत की सेवा में तत्पर कीजिए। शारदा का यह भी कहना था कि, “आज लोकतंत्र का सबसे पवित्र दिन है और इस दिन या तो हम दो हमारे दो या फिर हम तीन हमारे तीन का नियम सरकार सभी के लिए बना दे। या फिर आज हम सब संकल्प लें कि सभी हम दो हमारे पांच का पालन करेंगे।”

गौरतलब है कि व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक विनीत अग्रवाल शारदा ने फिर महाराजा दशरथ का उदहारण दिया और कहा कि, उनके चार पुत्र थे। अगर राजा दशरथ के चार पुत्र नहीं होते तो फिर कभी रावणराज का अंत न हो पाता। इसलिए वह समय आ गया है जब देश को ज़रूरत है “हम दो हमारे पांच” की। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो भारत माता फिर रोएगी। फिर से भारत माता को जंजीरों में जकड़ा जायेगा और फिर एक दुसरे नए पाकिस्तान की मांग भी उठेगी।”